गन्ने के छिलके का अब यह तैयार करने के लिए होगा उपयोग

1880

 

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

मुजफ्फरपुर : ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्रियों को अब आईआरसीटीसी की ओर से मिलने वाला भोजन एल्युमिनियम के पैकेट की जगह गन्ना के छिलके (बगास) के पैकेट में मिलेगा। इसके लिए फूड व स्टैंडर्ड विभाग का सर्वे हुआ था और अब इसका रास्ता साफ़ हो गया है। इस फैसले से चीनी मिलों की आय में बढ़ोतरी होगी और इससे किसानों को भी वक़्त में गन्ने का पैसा मिलने की सम्भावना है।

एल्युमिनियम के पैकेट में एक केमिकल पाया जाता है. गर्म खाना में उस रसायन का अंश आ जाता है, जो सेहत के लिए हानिकारक है। एल्युमिनियम के पैकेट में रखे खाने से बदबू भी आने की संभावना भी होती है. बगास में खाना देने से इस तरह की कोई समस्या नहीं आयेगी।

किसानों को भी होगा फायदा…

आईआरसीटीसी के अधिकारी ने बताया कि, बगास के पैकेट बनने से किसानों को फायदा होगा। पहले किसान गन्ने के छिलके को फेंक देते थे या जला देते थे, लेकिन, अब रेलवे किसानों से गन्ने के छिलके को खरीद कर उसे उपयोगी बनायेगी। जून तक ट्रेनों में बगास के पैकेट की शुरुआत की जायेगी।

कौन कौन सी ट्रेनों में होगी शुरुआत….

बिहार संपर्क क्रांति, श्रमजीवी एक्सप्रेस, राजधानी एक्सप्रेस, संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस

डाउनलोड करे चीनीमंडी न्यूज ऐप:  http://bit.ly/ChiniMandiApp

SOURCEChiniMandi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here