डोईवाला चीनी मिल का गन्ना खरीद का लक्ष्य पूरा नहीं हो सका

108

पांवटा साहिब (सिरमौर): गन्ना किसानों ने इस सीजन में अपनी उपज चीनी मिलों को बेचने के बजाय गुड़ की चर्खियों को बेचने में ज्यादा दिलचस्पी दिखाई है। जिसके चलते हिमाचल प्रदेश से सटे उत्तराखंड की डोईवाला चीनी मिल का निर्धारित डेढ़ लाख क्विंटल का लक्ष्य पूरा नहीं हो पाया।

अमर उजाला डॉट कॉम में प्रकाशित खबर के मुताबिक, हिमाचल किसान सभा के जिला महासचिव गुरविंद्र सिंह, पांवटा तहसील इकाई के प्रधान ओमप्रकाश, महासचिव जगदीश चौधरी फूल सिंह, निरंजन सिंह, राम पाल, श्याम लाल और आदेश शर्मा ने कहा कि उत्तराखंड की डोईवाला चीनी मिल ने इस बार पांवटा क्षेत्र से डेढ़ लाख क्विंटल गन्ना खरीद लक्ष्य निर्धारित किया था। हिमाचल से सिर्फ 54 हजार क्विंटल गन्ना ही मिल में पेराई के लिए भेजा गया। जिसमे दी गन्ना पांवटा वैली गन्ना शुगर कैन ग्रोवर सोसायटी (बद्रीपुर) ने 47000 क्विंटल और शाकूंभरी सोसायटी (खोड़ोंवाला) ने 7000 क्विंटल गन्ना सप्लाई किया है। मिल प्रबंधन ने पेराई के एक माह के भीतर ही 1.73 करोड़ भुगतान कर दिया है। इस बार गन्ने का रेट 315 और 325 रुपये प्रति क्विंटल था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here