गन्ना पर्चियों के वितरण में मनमानी: किसानों का आरोप

176

जवाहरनगर, हल्द्वानी (उत्तराखंड): किसानों द्वारा यहां की किच्छा चीनी मिल पर गन्ना पर्चियों के वितरण में मनमानी करने का आरोप है, जिससे स्थानीय गन्ना किसान नारज है। स्थानीय किसानों ने बताया कि बेमौसम बारिश के कारण किसान पहले ही परेशान हैं और अब मिल ने गन्ना सप्लाई की दर्जनों पर्चियां एक साथ थमा दीं, जिसके कारण वे बारिश के पानी से भरे खेतों में गन्ना कटाई को मजबूर हैं। दूसरी ओर, कटाई के लिए पर्याप्त संख्या में मजदूर भी नहीं मिल रहे हैं, जिससे किसानों में में आक्रोश पनप रहा है।

मिल प्रबंधन ने करीब डेढ़-दो महीने पहले गन्ना पर्चियों का वितरण बंद कर दिया था, फिर अचानक इसे शुरू करते हुए कई किसानों को गन्ना सप्लाई की 12 से अधिक पर्चियां थमा दीं, जिससे किसान परेशान और नाराज हैं। उनका आरोप है कि मिल ने समय पर किसानों को पर्ची वितरण नहीं किया, जिससे उनकी अगेती बुवाई का नुकसान हुआ। अब खेतों में जलभराव है, इसके बावजूद एक साथ कई पर्चियां जारी कर किसानों को जानबूझकर परेशान किया जा रहा है।

अमर उजाला में प्रकाशित खबर के मुताबिक एक किसान ने बताया कि उनके खेत में सवा एकड़ गन्ने की फसल लगी है। डेढ़ माह से एक भी पर्ची नहीं दी गई। वर्तमान में बारिश से खेत में पानी भरा है और मिल प्रशासन ने एक साथ नौ पर्चियां जारी कर दी हैं। उनके पास गन्ना छिलाई के लिए न तो मजदूर हैं और न ही खेत से निकासी का रास्ता है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here