मराठवाड़ा में गन्ने की बुवाई सामान्य से कम दर्ज

713

औरंगाबाद: संतोषजनक वर्षा के बावजूद, मराठवाड़ा क्षेत्र के आठ जिलों में खरीफ मौसम के लिए अनाज, दाल और गन्ने की बुवाई अब तक सामान्य से कम है। सूखाग्रस्त क्षेत्र में खरीफ सीजन के दौरान सामान्य रूप से लगभग 50 लाख हेक्टेयर खेती की जाती है। हालांकि, इस वर्ष, फसलों की बुवाई लगभग 37 लाख हेक्टेयर पर पूरी हुई है।

टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक मराठवाड़ा में गन्ने का रोपण कम हुआ है। लातूर, नांदेड़, परभणी और हिंगोली जिलों में लगभग कोई गन्ना रोपण नहीं हुआ है।

कोरोना वायरस महामारी के कारण, किसानों द्वारा नियमित खरीफ बुवाई के बजाय नकदी फसलों का विकल्प चुनने की संभावना है।

महाराष्ट्र : चीनी उत्पादन 101.34 लाख टन होने का अनुमान…
2019 में कम वर्षा और बाढ़ के कारण गन्ना क्षेत्र और उत्पादन में भी काफी गिरावट देखी गई। 2019-20 सीजन के 7.76 लाख हेक्टेयर के मुकाबले 2020-21 में क्षेत्र 11.12 लाख हेक्टेयर तक बढ़ने की उम्मीद है। चीनी का उत्पादन 2020-21 सीजन में लगभग 101.34 लाख टन होने का अनुमान है, जबकि 2019-20 में 61.61 लाख टन का उत्पादन हुआ, जो कि लगभग 39.73 लाख टन कम था।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here