बारिश के कारण गन्ना सर्वे की तिथि बढ़ी

1189

अमिलो (आजमगढ़): जिले में फिर एक बार गन्ना सर्वे में तेजी आ गई है। बारिश के कारण सर्वे में रूकावटे पैदा हुई थी, जिससे चीनी मिल परिक्षेत्र में गन्ना सर्वे का तय लक्ष्य पूरा नहीं हो पाया है। सर्वे की निर्धारित तिथि 30 जून खत्म हो चुकी है, लेकिन अब गन्ना विभाग ने सर्वे की तिथि को बढ़ाकर 10 जुलाई तक कर दिया है। किसान सर्वे के पेराई सत्र 2020-21 के लिए गन्ना आयुक्त ने गन्ना क्षेत्रफल सर्वे का कार्य समय से पूरा कराने के निर्देश दिए हैं। इसके अनुपालन में सर्वे किया जा रहा था जिसे 30 जून तक समाप्त कर देना था। लेकिन बारिश के कारण यह पूरा नहीं हो सका था।

इस सीजन उत्तर प्रदेश में चीनी उत्पादन ज्यादा होने के अनुमान है। इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन (ISMA) के अनुसार, यह अनुमान है की देश में अग्रणी गन्ना उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश में गन्ने का रकबा 22.92 लाख हेक्टेयर तक रह सकता है, जबकि सीजन 2109-20 सीजन में 23.21 लाख हेक्टेयर था। 2019-20 सीजन की तुलना में गन्ना क्षेत्र में लगभग 1% की मामूली कमी है। लेकिन 2020-21 में ISMA उपज में मामूली वृद्धि के साथ-साथ चीनी की रिकवरी की भी उम्मीद कर रहा है। 2020-21 सीजन में उत्तर प्रदेश में चीनी उत्पादन लगभग 123.06 लाख टन होने का अनुमान है, जो वर्तमान 2019-20 सीजन के 126.45 लाख टन (इथेनॉल में डायवर्जन के बाद) से थोडा कम होगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here