लॉकडाउन: महाराष्ट्र सरकार का फैसला, मेडिकल चेकअप के बाद प्रवासी गन्ना कटाई मजदूर अपने गांव जा सकते हैं

319

मुंबई: महाराष्ट्र में अटके गन्ना कटाई मजदूरों के लिए राहत भरी खबर है। महाराष्ट्र सरकार ने एक लाख से अधिक प्रवासी गन्ना कटाई मजदूरों को अपने पैतृक गांवों में लौटने की अनुमति देने का फैसला किया है। लेकिन इससे पहले उन्हें मेडिकल टेस्ट करवाना होगा।

इसकी जानकारी मंत्री धनंजय मुंडे ने अपने ट्विटर पर भी शेयर की। मुंडे ने ट्वीट में कहा, “मेरे गन्ना कटाई मजदूर भाइयों के लिए खुशखबरी! आप अभी अपने घर (गाँव) लौट सकते हैं। सरकार ने इस संबंध में एक आदेश जारी किया है। सरकार द्वारा निर्धारित नियमों के भीतर घर वापस लौटें। अपना ख्याल रखें और आपके गाँवों का भी ख्याल रखें। जब आप वहाँ लौटेंगे तो घरों के अंदर ही रहें।

उन्होंने इस संबंध में सरकार द्वारा जारी परिपत्र भी साझा किया। गन्ना कटाई मजदूरों को अलग अलग चरणों में भेजा जाएगा।


चीनी मिलों का संचालन करने वालों को श्रमिकों और उनके परिजनों का टेस्टिंग और प्रमाणित कराना होगा, और अधिकारियों सहित ग्राम पंचायतों को सूचित करना होगा, और फिर उनकी सुरक्षित वापसी के लिए अपेक्षित अनुमति प्राप्त करनी होगी। इसके साथ ही उनके खाने और पानी पिने की व्यवस्था मिलों द्वारा किये जाने का आदेश दिया गया है।

मुंडे के साथ साथ महाराष्ट्र के मंत्री जयंत पाटिल ने भी इसकी जानकारी ट्विटर पर साझा करी। इससे पहले लॉकडाउन 14 अप्रैल को खतम होना था लेकिन कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए प्रधानमंत्री मोदी द्वारा इसे 3 मई तक बढ़ा दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here