नाइजीरिया की चीनी मिल ने कहा की वे अपने 2,400 कर्मचारियों में से किसी को भी काम से नहीं निकलेगा

258

अबुजा: कोरोना वायरस महामारी के बीच दुनिया के बड़े से बड़े उद्योग करोड़ों रुपयों के घाटे में फंस गये है, जिसके कारण कई उद्योगों ने कर्मचारियों के साथ साथ उनके वेतन में कटौती का रास्ता अपनाया है। लेकिन ऐसी स्थिति में भी नाइजीरिया की सुन्ती गोल्डन शुगर एस्टेट्स (एसजीएसई) ने सोमवार को कहा कि, वह अपने सभी 2,400 कर्मचारियों को पूरी सुविधा के साथ काम पर रखा है। श्रमिकों को सुरक्षित रखने के लिए, गोल्डन शुगर कंपनी की एक सहायक कंपनी SGSE ने पहले से ही अपने मूल समूह, नाइजीरिया के सबसे बड़े खाद्य और कृषि-सहयोगी समूह नाइजीरिया पीएलसी (FMN) के फ्लौर मिल्स को शुरू रखा था। समूह के कॉरपोरेट सर्विसेज के निदेशक, जोसेफ उमोलू द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि, कंपनी को स्थानीय चीनी उत्पादन में कमी के चलते अपनी उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया था।

जोसेफ उमोलू ने कहा की, कंपनी ने अपने पेराई सत्र का समापन किया था, जिसमें 146,200 टन गन्ने की कटाई और 15,860 टन चीनी का उत्पादन किया गया था। उन्होंने कहा कि, कंपनी ने ईंधन के रूप में बगास का उपयोग करके 9,640 टन मोलासिस और 11,600 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया। इस समय, जब COVID-19 लोगों की नौकरी की असुरक्षा का कारण बन रही है, सुन्ती ने गन्ने की खेती, सिंचाई, निराई और उर्वरक के लिए अपने कर्मचारियों की ताकत बनाए रखी है। हमारे कर्मचारियों, आपूर्तिकर्ताओं, ग्राहकों और अन्य हितधारकों के स्वास्थ्य और सुरक्षा की रक्षा के लिए रणनीतिक उपाय किए हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here