तमिलनाडु: किसानों ने की चक्रवात से नष्ट हुए फसल के मुआवजे की मांग…

669

त्रिची: चक्रवात निवार के कारण हुई फसल क्षति का आकलन करने के लिए केंद्रीय समिति के सदस्य तमिलनाडु जा रहे हैं, जिसके चलते किसानों ने केंद्र सरकार से उन सभी किसानों के लिए मुआवजे की घोषणा करने की अपील की है जिनके धान के खेत भी डूब गए है। किसानों ने कहा कि, खेतों में खड़ी फसलें स्वस्थ दिख सकती हैं, लेकिन पैदावार में काफी कमी आएगी। किसानों ने अपील की है की, विशेषज्ञ समिति को इस तथ्य पर विचार करना चाहिए। किसानों ने निवार चक्रवात से नुकसान का आकलन करने के लिए चक्रवात के तुरंत बाद एक समिति भेजने के लिए सरकारों को धन्यवाद दिया।

नागपट्टिनम, तंजावुर और तिरुवरुर सहित कई जिलों में चक्रवात निवार के कारण कई एकड़ फसलें डूब गई। तंजावुर जिले के कावेरी किसान संरक्षण संघ के सचिव स्वामीमलाई एस विमलनाथन ने कहा कि, कुछ खेतों में से पानी कम हो गया है, वहीं कुछ अन्य खेत अभी भी जलमग्न हैं। बाढ़ आ जाने के बाद निश्चित रूप से उपज में कमी होती है। किसानों ने कहा कि, बाढ़ के कारण कीटों के हमले की संभावना भी बनी रहेगी। किसानों ने दावा किया की, हमारा पिछला अनुभव है, जब राज्य सरकार मुआवजे के रूप में 1,000 करोड़ रुपये मांगेगी, तो केंद्र सरकार 175 करोड़ रुपये की पेशकश करेगी। केंद्र सरकार को पूरे फंड को मंजूरी देनी चाहिए और उन्हें आगे इस बात का पालन करना चाहिए कि क्या मुआवजे का सही तरीके से इस्तेमाल हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here