तंज़ानिया: 2024-25 तक चीनी उत्पादन में 33 फीसदी वृद्धि संभव…

90

दार एस सलाम: छह नए गन्ने की किस्मों के इस्तेमाल के बाद तंजानिया में चीनी उत्पादन चार साल में लगभग 33 प्रतिशत बढ़ने की उम्मीद है। वर्तमान में देश में सालाना लगभग 470,000 टन चीनी का उत्पादन होता है, लेकिन तंज़ानिया सरकार आशावादी है कि, 2024-25 के कृषि सीजन तक उत्पादन बढ़कर 700,000 टन हो जाएगा। पहली बार तंजानिया ने अपनी गन्ने की किस्मों को मंजूरी दी है। नई किस्मों को इस वर्ष जनवरी में प्रमाणित किया गया था। कृषि मंत्रालय में फसल विकास के निदेशक न्यासेबवा चिमगु ने कहा कि, गन्ना किस्मों की मंजूरी के बाद, रूवामा और किगोमा क्षेत्रों में नए गन्ने की खेती की परियोजनाएं लागू की गईं। 2024-25 तक चीनी उत्पादन को 700,000 टन तक बढ़ावा देने के लिए, देश भर के किसानों ने पहले ही नई किस्मों को लगाना शुरू कर दिया है, और मिलों का विस्तार जारी है।

उपलब्ध आंकड़ों से पता चलता है कि, 2018 में घरेलू और इंडस्ट्रियल चीनी दोनों की मांग 610,000 टन से बढ़कर 710,000 टन हो गई है। औद्योगिक चीनी की मौजूदा मांग 165,000 टन है। तंजानिया कृषि अनुसंधान संस्थान (टीएआरआई) किभा उप-केंद्र प्रबंधक हिल्डलिटा सुश्रीता ने कहा कि, तंजानिया को गर्व है कि अंत में हमने अपनी घरेलू गन्ने की किस्में प्रमाणित की हैं। इससे पहले तंज़ानिया विदेशों से आयातित किस्मों पर निर्भर था, जिसमें से ज्यादातर किस्में दक्षिण अफ्रीका और भारत से आयात की जाती थी। आयातित गन्ने की कुछ किस्मों में Co617, NCo376, N25, N30, N41, R 570, R 579 और R 579 शामिल हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here