तंजानिया में चीनी जमाखोरी पर सरकार हुई सख्त

160

तंजानिया: कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण कई आवश्यक चीजों की किल्लत होने लगी है। साथी ही कई देशों में जीवनावश्यक वस्तुओं को ऊँचे दामों में बेचा जा रहा है। तंजानिया में भी यह देखने को मिला है। इसलिए तंजानिया सरकार की कैबिनेट के एक मंत्री ने जीवनावश्यक चीजों की जमाखोरी करने और उसे ऊंचे मूल्यों पर बेचने वाले व्यापारियों को खुली चेतावनी दी है और कहा है कि यदि उन्होंने अपने इस गैर-कानूनी बिजनेस को नहीं रोका तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

तंजानिया के उद्योग एवं व्यापार मंत्री मासूम बशुंगवा ने कहा कि सरकार ने इसके लिए एक आयोग का गठन किया है जो व्यापारियों के सभी चीनी गोदामों की जांच करेंगे। उन्होंने कहा कि मैं उन सभी व्यापारियों को चेतावनी दे रहा हूं, जिन्होंने कोविद-19 संकट के दौरान ऊंची कीमतों से जीवनावश्यक चीजों को बेचना शुरु किया है। बाशुंगवा ने कहा कि इस आयोग में इंडस्ट्री मिनिस्ट्री और ट्रेड जगत के अधिकारियों को शामिल किया गया है।

मंत्री ने कहा कि सरकार देश में चीनी उत्पादन बढ़ाने के उपाय कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने कोविद-19 महामारी के दौरान चीनी की उपलब्धता बनाए रखने के लिए 20,000 टन चीनी आर्डर किया है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, तंजानिया में चीनी की वास्तविक मांग सालाना लगभग 420,000 टन है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here