तंजानिया: स्थानीय चीनी उत्पादकों को आयात परमिट जारी करने पर रोक लगाएगी सरकार

171

डोडोमा: तंजानिया सरकार ने कहा है कि, अगले साल से सरकार उन कंपनियों को चीनी आयात परमिट जारी नहीं करेगा जो स्थानीय चीनी उत्पादक हैं। कृषि मंत्री, प्रो एडॉल्फ मकेंडा ने कहा कि, देश में उत्पाद की कमी गन्ने की कमी के कारण नहीं है, बल्कि चीनी निर्माताओं द्वारा अपने मिलों की गन्ना प्रसंस्करण क्षमता को बढ़ाने में विफलता के कारण है। प्रो मकेंडा ने गुरुवार को डोडोमा में यह टिप्पणी की, जब वह 7 वें कृषि हितधारकों के सम्मेलन के प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, सरकार अगले साल से स्थानीय निर्माताओं को चीनी आयात परमिट जारी नहीं करेगी। 2022 तक, देश स्थानीय खपत के लिए पर्याप्त चीनी का उत्पादन करने में सक्षम होगा क्योंकि मौजूदा मिलों के विस्तार के साथ-साथ नए उद्योगों के निर्माण के प्रयास जारी हैं।

उन्होंने कहा कि, तंजानिया हर साल 40,000 टन से अधिक चीनी का आयात करता है, और इतनी चीनी स्थानीय स्तर पर उत्पादित की जा सकती है। उन्होंने चीनी मिलों से पेराई क्षमताओं विस्तार करने का आग्रह किया ताकि किसानों द्वारा उत्पादित सभी गन्ना खरीदने में सक्षम हो सकें। प्रो मकेंडा ने चीनी के अवैध आयात के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा कि, र्धारित नियमों का उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि, मिलों के विस्तार से रोजगार के अवसर निर्माण होंगे। तंजानिया की घरेलू चीनी की मांग 470,000 मीट्रिक टन है, जबकि देश के पांच चीनी मिलों में 2019 में 378,000 टन उत्पादन की क्षमता थी।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here