तंजानिया: किलोम्बेरो शुगर ने चीनी उत्पादन दोगुना करने के लिए किया निवेश

282

डोडोमा: देश में सबसे बड़ा चीनी उत्पादक किलोम्बेरो शुगर मिल ने अगले दो वर्षों में अपने उत्पादन और उत्पादकों की क्षमता को दोगुना करने के लिए 550 bn निवेश करने की योजना बनाई है। इलोवो शुगर अफ्रीका और सरकार के स्वामित्व वाली किलोम्बेरो शुगर ने कहा कि, मिल का विस्तार शुरू हो गया है, जबकि गन्ना उत्पादकों के खेतों की मैपिंग लगभग पूरी हो चुकी है। इलोवो अफ्रीका के बिक्री प्रमुख एप्रैम मफुरु ने कहा कि, मिल की उत्पादन क्षमता दो साल में मौजूदा 125,000 टन से दोगुनी होकर 270,000 टन हो जाएगी। मफुरु ने कहा की, हम देश को चीनी उत्पादन आत्मनिर्भर बनने के लिए काम कर रहे हैं।

मफुरु ने कहा कि, अधिकांश किसान किसी भी प्रकार के उर्वरक या उच्च गुणवत्ता वाले बीजों का उपयोग नहीं करते हैं, जबकि कुछ की सिंचाई बिल्कुल नहीं होती है, उनके किसान बारिश पर निर्भर करते हैं। मफुरु ने कहा कि, मिल के विस्तार से किसानों की आय और उत्पादकों की संख्या भी दोगुनी हो जाएगी। वर्तमान में 5500 किसान कंपनी को 600,000 टन गन्ना बेच रहे हैं और कुल 65 अरब रुपये प्राप्त कर रहे हैं। विस्तार से कर्मचारियों की संख्या भी दो साल बाद 2000 से 4440 तक दोगुनी हो जाएगी। चीनी के अवैध आयात पर अंकुश लगाने के लिए सरकार विशेष रूप से काम कर रही है। गन्ने की खेती के लिए उपयुक्त भूमि होने के बावजूद, तंजानिया वर्तमान में चीनी आयात करने के लिए लगभग 70 मिलियन अमेरिकी डॉलर खर्च करता है। किलोम्बेरो सालाना लगभग 1.25 मिलियन टन गन्ने से लगभग 125,000 टन चीनी का उत्पादन करता है, जिसके लिए 55 प्रतिशत गन्ना स्वयं और 45 प्रतिशत किसानों द्वारा खरीदा जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here