इस साल और ज्यादा कहर बरपा सकती है गर्मी, सामान्य तापमान 1 से 1.5 डिग्री तक बढ़ने की संभावना

385

नई दिल्ली: इस साल उत्तर, पूर्व और मध्य भारत के बड़े हिस्सों में गर्मियां बढ़ सकती है। भारत के मौसम विभाग (आईएमडी) ने अप्रैल और मई के दौरान इन क्षेत्रों में तापमान सामान्य से 1-1.5 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ने की संभावना जताई है।

आईएमडी के अनुसार, मार्च में, उत्तर भारत, मध्य भारत, दक्षिण भारत और पूर्वी भारत में तापमान में आधा डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होने की संभावना है। उत्तरी आंध्र प्रदेश में, यह एक डिग्री सेल्सियस और बढ़ सकता है।

आईएमडी का कहना है कि देश के कई हिस्सों में पहले से ही पारा बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि आईएमडी के वैज्ञानिक गर्मी के डेटा इकठ्ठा कर रहे हैं और वे आगामी तीन महीनों के पूर्वानुमान डेटा फरवरी के अंत में जारी किये जाएंगे।

आईएमडी गर्मियों के मौसम से पहले गर्मियों के पूर्वानुमान भी जारी करता है। अप्रैल में उत्तर और मध्य भारत में तापमान सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस बढ़ने की संभावना है। पश्चिम राजस्थान और आसपास के गुजरात के कुछ हिस्सों में तापमान 1.5 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ सकता है।

राजस्थान, विशेषकर राज्य के पश्चिमी भाग में असामान्य रूप से उच्च तापमान देखा गया है।। पिछले साल मई में चूरू और अन्य पड़ोसी जिलों में तापमान 50 डिग्री सेल्सियस के आसपास दर्ज किया गया था। देश में मई महीना सबसे गर्म महीनों में से एक माना जाता है।

मध्य भारत, उत्तर भारत और पूर्वी भारत में भी मई में तापमान सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस अधिक बढ़ने की संभावना है। पश्चिम राजस्थान में तापमान 1.5 डिग्री सेल्सियस बढ़ सकता है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here