चीनी और टेक्सटाइल उद्योगों में पाया गया सबसे अधिक प्रदूषण: MPCB

229

मुंबई: महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (MPCB) ने टेक्सटाइल और चीनी उद्योग को सबसे अधिक प्रदूषणकारी पाया है। एक सर्वे में पाया गया है की, आधे से अधिक टेक्सटाइल उद्योग को MPCB की तीन से कम प्रदूषणकारी की रेटिंग मिली हुई है। MPCB के स्टार रेटिंग कार्यक्रम ने लगभग 67 प्रतिशत टेक्सटाइल उद्योग को प्रदूषणकारी पाया है। कई बड़े इंडस्ट्रियल संयंत्रों को उनके इमीशन उत्सर्जन के आधार पर एक से पांच स्टार देकर रेट किया गया है।

रेटिंग स्टार में एक स्टार जहां अनुपालन नहीं करने का सूचक है वहीं पांच स्टार अनुपालन करने का संकेत है।

एमपीसीबी के एक अधिकारी ने कहा कि हालांकि, ठाणे में पिछले साल की तुलना में प्रदूषित उद्योगों की संख्या कम हुई है। ठाणे और नवी मुंबई की अनेक कंपनियां पर्यावरण को देखते हुए अपने क्लीनर ईंधन में सुधार कर रही हैं। यहां टेक्सटाइल और केमिकल इंडस्ट्रीज की कंपनियां सबसे अधिक प्रदूषित हैं। हम स्टार रेटिंग प्रोग्राम के तहत उनकी डेटा के आधार पर नोटिस जारी कर रहे हैं।

कुल मिलाकर, महाराष्ट्र में 20 टेक्सटाइल उद्योग को दो स्टार श्रेणी दी गई है, जबकि 23 टेक्सटाइल उद्योग को वन स्टार रेटिंग दी गई है। इसी तरह, तकरीबन 43 चीनी मिलों और डिस्टीलरीज को दो स्टार और वन स्टार दी गई है। गौरतलब है कि इनमें से कोई भी ठाणे में स्थित नहीं है। इसी तरह, राज्य में 26 रासायनिक और 20 मेटल इंडस्ट्रीज प्रदूषणकारी पाए गए हैं।

चीनी और टेक्सटाइल उद्योगों में पाया गया सबसे अधिक प्रदूषण यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here