रमाला चीनी मिल के कर्मचारियों का धरना समाप्त

243

बागपत। रमाला चीनी मिल में ठेका प्रथा के विरोध में संविदा कर्मचारियों का धरना और आमरण अनशन मांग पूरी होने पर समाप्त हो गया। गौरतलब है कि रमाला चीनी मिल में ठेका प्रथा का विरोध कर रहे संविदा कर्मचारी गत 23 सितंबर से अनशन पर थे। इन कर्मचारियों को बागपत के एसडीएम ने जूस पिलाकर उनका अनशन समाप्त कराया।

खबरों के मुताबिक संविदा कर्मचारी चार दिन तक क्रमिक अनशन पर रहने के बाद दो दिन से दो कमर्चारियों ने आमरण अनशन शुरू कर दिया था। इसे सुलझाने के लिए कई दिनों से क्षेत्र के जनप्रतिनिधि प्रयास कर रहे थे। छपरौली विधायक सहेंद्र सिंह, एसडीएम गुलशन कुमार, उपसभापति के पति सतेंद्र तुगाना दोपहर बाद कर्मचारियों से मिले। उन्होंने मिल के महाप्रबंधक प्रबुद्ध चौबे को बुलाकर कर्मचारियों की ठेका प्रथा को समाप्त करने को कहा और उनकी यथा स्थिति बनाने व न्यूनतम वेतनमान 12000 हजार करने की मांग रखी। श्री चौबे ने ठेका प्रथा समाप्त करने व न्यूनतम वेतन को बोर्ड से पास कराके डीएम और फेडरेशन को भेजने का आश्वासन दिया। इन मांगों के मान लिये जाने की सहमति बनने के बाद धरना और आमरण अनशन समाप्त हो गया। एसडीएम, सीओ रामनंद कुशवाहा व छपरौली विधायक ने आमरण अनशन पर बैठे रवि दूहण व अंकित शर्मा को जूस पिलाकर अनशन समाप्त कराया। मौके पर कृष्णपाल चेयरमैन, भोपाल सिंह, जिला पंचायत सदस्य राजेंद्र सिंह, राजपाल सिंह, रविद्र मुखिया, राजकुमार प्रधान, सतीश चौहान भी उपस्थित थे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here