अगले सीझन में वैश्विक चीनी आपूर्ति घाटा इतना होगा…

0
622

 

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

साओ पाउलो :  फ्रांसीसी चीनी व्यापारी कम्पनी सुक्रेस एट डिनेर्स, या सक्सडेन  ने, भारत, थाईलैंड और यूरोपीय संघ में उत्पादन में अनुमानित कमी के कारण 2019-20 के वर्ष (अक्टूबर-सितंबर) में दुनिया के चीनी आपूर्ति संतुलन में लगभग 40 लाख मेट्रिक टन की बड़ी कमी की सम्भावना जताई है।

थाईलैंड में गन्ना किसान अन्य फसलों पर स्विच करने की वजह से  2019-20 में चीनी का उत्पादन लगभग 10 प्रतिशत गिरकर 1.20 करोड़ टन होने का अंदाजा लगाया जा रहा है। थाईलैंड में चीनी की कीमतें लगभग 20 प्रतिशत गिर गई हैं क्योंकि सरकार ने विश्व व्यापार संगठन के समझौते के बाद इस क्षेत्र में कुछ सब्सिडी में समायोजन किया है। 2019 – 2020 में भारत का चीनी उत्पादन 26 -27 मिलियन टन होने की उम्मीद है , जो 2018 – 2019 में 31.7 मिलियन टन के मुकाबले काफी कम है।  सक्सडेन यूरोपीय किसानों से अपेक्षा करता है कि वे चुकंदर की खेती कमी कम करेंगे, जो  चीनी की कीमतें गिरने की प्रतिक्रिया है।चुकंदर से चीनी उत्पादन में 5 प्रतिशत की गिरावट की सम्भावना है।

डाउनलोड करे चीनीमंडी न्यूज ऐप:  http://bit.ly/ChiniMandiApp  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here