सूखाग्रस्त क्षेत्र के लिए तीन नए गन्ने की किस्मों का सुझाव

330

गन्ना किसानों को अपनी वित्तीय स्थिति में सुधार करने के लिए गन्ना उत्पादन को बढ़ावा देने का लक्ष्य है। मराठवाड़ा जैसे सूखाग्रस्त क्षेत्र में पानी की स्थिति गंभीर होती जा रही है, इसलिए आईसीएआर-गन्ना प्रजनन संस्थान, कोयंबटूर ऐसे क्षेत्रों में तीन नए गन्ने की किस्मों का परीक्षण कर रहा है, जो क्षेत्र के अनुसार संगत होंगे। वह तीन नए गन्ने की किस्में Co 85019, 98017 और 09004 हैं।

डॉ. बख्शी राम, निदेशक, आईसीएआर-गन्ना प्रजनन संस्थान ने इस पर बात करते हुए कहा, “इन किस्मों के परीक्षणों के सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं। ये परीक्षण कोपरगाँव, नांदेड़, जालना और अन्य क्षेत्रों में चल रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा कि जल्द ही हम लोकप्रिय गन्ना किस्म Co 86032 के लिए एक प्रभावी विकल्प के रूप में Co 11015 की सिफारिश करेंगे। तमिलनाडु की तुलना में कोल्हापुर का क्षेत्र जलवायु इस किस्म के लिए अनुकूल है। यह चीनी की रिकवरी को 1 फीसदी बढ़ाने में मदद करेगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here