चीनी मिलों को गन्ने की फसलों की वास्तविक स्थितियों की जानकारी के लिये नवीनतम तकनीकी युक्त ड्रोन्स का उपयोग करने की सलाह

4789

कई चीनी मिलें खराब वित्तीय स्थिति का सामना कर रहे है ऐसे समय में वित्तीय स्थिति को मजबूत करने के लिए विशेषज्ञ चीनी उत्पादन के अलावा कई अन्य मापदंडों को अपनाने का सुझाव देते है। इसमे चीनी एवं संबद्ध उद्योगों में आपूर्ति प्रबंधन श्रृंखला पर काम करना भी महत्वपूर्ण है। इसको लेकर ही राष्ट्रीय शर्करा संस्थान, कानपुर द्वारा आयोजित “शर्करा एवं संबद्ध उद्योगों में आपूर्ति प्रबंधन श्रृंखला” (“Supply Chain Management in Sugar & Allied Industries”) विषय पर दो दिवसीय आनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम का आज दि. 09.9.2020 को शुभारंभ हुआ। अपने उद्घाटन व्याख्यान में संस्थान के निदेशक, प्रो. नरेन्द्र मोहन ने कहा कि COVID-19 महामारी के परिदृश्य में चीनी मिलों एवं आसवनियों के बाधारहित संचालन हेतु इस प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रमों की महत्ता बढ़ जाती है। विभिन्न प्रतिबंधों को देखते हुये यह आवश्यक हो जाता है कि खेतों से चीनी मिलों तक गन्ने की आपूर्ति को सुनिश्चित करने हेतु उचित तरीके को अपनाया जाये। लगभग 20000-25000 गन्ना उत्पादक किसान एक चीनी मिल को गन्ने की आपूर्ति करते हैं एवं गन्ने की कटाई से पेराई के बीच 24 घंटे की देरी होने पर इसमें उपस्थित चीनी की मात्रा लगभग 5-10 प्रतिशत कम हो जाती है। यह मात्रा विभिन्न प्रकार के वातावरण के तापमान और मौसम पर निर्भर करती है। प्रो. मोहन ने आह्वान किया कि गन्ने के परिपक्वता की जानकारी, कटाई एवं आपूर्ति प्रबंधन के लिये आधुनिकतम सूचना एवं संचार माध्यमों का इस्तेमाल किया जाये। उन्होंने कहा कि आजकल ड्रोन का उपयोग समान्य बात है और चीनी मिलें गन्ने की फसलों की वास्तविक स्थितियों की जानकारी के लिये नवीनतम तकनीकी युक्त ड्रोन्स का उपयोग कर सकती हैं। प्रो. मोहन ने आगे कहा कि चीनी मिल मालिकों को गोदाम में भंडारण के लिये आई चीनी को “पहले उत्पादित – पहले विक्रय” के आधार पर बेचने के लिए रेडियो फ़्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टैग अपनाने पर ध्यान देना चाहिये।

श्री स्वामीनाथन अरुणाचलम, निदेशक (परिचालन-भारत), मेसर्स गिवाउडन (इंडिया) प्रा. लिमिटेड ने गुणवत्ता नियंत्रण, निर्यात को सुविधाजनक बनाने और उपभोक्ता संरक्षण के दृष्टिकोण से चीनी के प्रमाणन के महत्व पर प्रकाश डाला। चूंकि, हमारे देश में चीनी सरप्लस मात्रा में है और हमारा देश उत्पादित सरप्लस चीनी को अन्य देशों को भी निर्यात करने का प्रयास कर रहा है, ISO-22000 और FSSAI प्रमाणपत्रों के अतिरिक्त भी COVID -19 की वर्तमान परिस्थितियों में चीनी उद्योग के लिए IFS (अंतर्राष्ट्रीय खाद्य मानकों) और SQF (सुरक्षित गुणवत्ता वाले खाद्य) मानकों का पालन करना बहुत महत्वपूर्ण है। प्रमाणन के महत्व पर प्रकाश डालते हुये श्री स्वामीनाथन ने कहा कि यह ग्राहकों के विश्वास और ब्रांड की विश्वसनीयता में वृद्धि के साथ ही ग्राहकों को झूठे और भ्रामक दावों से भी बचाता है।

गन्ना आपूर्ति प्रबंधन पर चर्चा करते हुए अफ्रीका परियोजना के महाप्रबंधक डॉ. एन. आर. मुरली ने गन्ना आपूर्ति की विभिन्न प्रणालियों यथा- नाव, रेल, बैलगाड़ी, ट्रैक्टर ट्रॉलियों और ट्रकों के माध्यम से गन्ने के परिवहन पर संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि खेतों में श्रमिकों की निरंतर कमी के कारण, चीनी उद्योग को चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है और इसके कारण खेतों का मशीनीकरण महत्वपूर्ण होता जा रहा है। कटाई और परिवहन की लागत लगभग 1000-1200 रू. प्रति टन आती है जो कि अलग-अलग स्थानों में और बढ़ सकती है। किसानों की छोटी भूमि जोत और निवेश की क्षमता को देखते हुए ट्रैक्टर माउंटेड गन्ना हार्वेस्टर, डी-ट्रैशिंग मशीन और गन्ना-लोडर विकसित करने की आवश्यकता है।

डॉ. जी.एस.सी. राव, प्रबंध निदेशक, ग्लोबल केन शुगर ने चीनी क्षेत्र में आपूर्ति श्रृंखला के कुशल प्रबंधन के लिए नवीनतम उपकरणों और प्रौद्योगिकी को अपनाने के बारे में चर्चा की। उन्होंने किसानों के लिए मोबाइल आधारित ई-लर्निंग ऐप और स्मार्ट कार्ड का उपयोग करते हुए मानव रहित गन्ना तौल की वकालत की। जीपीएस लगे हुये वाहनों से चीनी कारखानों और आसवनियों को गन्ने की आपूर्ति की बेहतर ट्रैकिंग के लिए महत्वपूर्ण हैं और इसे लागू करने की अत्यंत आवश्यकता है। उत्पादों के विक्रय प्रबंधन पर बोलते हुये डॉ. राब ने ई-प्लेटफ़ॉर्म का विवरण प्रस्तुत किया, जिसका उपयोग ऑर्डर बुकिंग और सूचना के त्वरित आदान-प्रदान के लिए किया जाना चाहिए।

वर्चुअल प्लेटफार्म पर आयोजित इस कार्यक्रम में केन्या एवं नाइजीरिया आदि देशों से 200 से अघिक प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन कोर्स कन्वेनर श्री ब्रजेश सिंह ने किया।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here