गन्ना किसानों की समस्याओं का होगा शीघ्र समाधान, असम में पंचायतों को सरकार देगी ट्रैक्टर

815

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

गुवाहाटी ,14 मई: असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल से पश्चिमी कार्बी आंग्लाग के किसानों के एक प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल के नेतृत्व कर रहे शान्तनु बोहरा और विष्णु हज़ारिका ने मुख्यमंत्री से चुनाव पूर्व किया गया वादा याद दिलाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने गन्ना उत्पादक क्षेत्रों में पंचायतों को सरकारी मदद से एक एक ट्रेक्टर दिलाने की बात कही थी जिसे अब मुख्यमंत्री को पूरा करना चाहिये। मुख्यमंत्री ने किसानों को आश्वासन देते हुए कहा कि सरकार पंचायतों में ट्रैक्टर उपलब्ध करा रही है जिन पंचायतों को नहीं मिले है वहाँ चुनाव बाद दिये जाएँगे। मुख्यमंत्री सोनेवाल ने कहा कि जो छोटे और मझोले किसान ट्रेक्टर नहीं ख़रीद पाते है वे अपने खेतों में पंचायत से ट्रेक्टर ले जाकर खेत की जुताई और अन्य कृषि कार्य कर सकेगें।

किसान नेताओं ने कहा कि हमें गन्ने के खेत तैयार करने, बुआई करने और कटाई के दौरान लेबर नहीं मिलते है और फिर पके गन्ना को चीनी मिल तक गन्ना पहुँचाने में मिलें दूर होने से गन्ना ढुलाई भी बहुत मंहगी पड़ती है, जिससे छोटे खेत वाले किसानों को बहुत लागत आती है बचता कुछ है नहीं। किसानों ने कहा कि सरकार अगर हमारी पंचायत को भी ट्रैक्टर उपलब्ध करा देती है तो गन्ना किसानों को भी काफ़ी फ़ायदा होगा।

किसान प्रतिनिधियों ने कहा कि मुख्यमंत्री ने गन्ना किसानों की समस्याओं का शीघ्र ही समाधान करने का आश्वासन देते हुए सरकार की तरफ़ से हर स्तर पर मदद का भरोसा दिलाया है।

ग़ौरतलब है कि असम सरकार ने प्रदेश की पंचायतों में सरकारी ट्रेक्टर देने का वादा किया था ताकि छोटे और मंझोले किसान जो ट्रैक्टर ख़रीदने में असमर्थ है उन्हें कृषि कार्यों के लिए ट्रैक्टर मिल सके। इन ट्रैक्टर्स की देखभाल और अन्य ज़िम्मेदारी संबंधित ग्राम पंचायत पर ही होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here