ट्रक चालकों की घरवापसी से ट्रांसपोर्टर्स चिंतित

1177

मुंबई : चीनी मंडी

ट्रांसपोर्टरों को डर है कि, कई दिनों से तक लॉकडाउन के दौरान ट्रक ड्राइवरों की भारी कमी का सामना करने के बाद, प्रवासी श्रमिकों को गाँवों में वापस भेजने की सरकार की तत्परता आपूर्ति श्रृंखला गतिविधियों को शुरू करने में उनकी परेशानी को और बढ़ा देगी।

ट्रांसपोर्टर्स के संघटन के मुताबिक ड्राइवरों को काम को फिर से शुरू करने के लिए प्रेरित करने की आवश्यकता है और यह सरकार से स्वास्थ्य बीमा के रूप में प्रोत्साहन प्रदान करने के साथ किया जा सकता है, ताकि ड्राइवर और उसके परिवार को दुर्भाग्यपूर्ण घटना में कुछ मुआवजे का आश्वासन दिया जाए।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक, ऑल इंडिया ट्रांसपोर्टर्स वेलफेयर एसोसिएशन (एआईटीडब्ल्यूए) के अध्यक्ष महेंद्र आर्य ने कहा की, 20 अप्रैल से, आपूर्ति श्रृंखला को फिर से शुरू करने की सरकार की घोषणा के बाद, सड़क पर सिर्फ 30% परिवहन वाहन हैं। लेकिन अब विभिन्न राज्यों / शहरों में प्रवासियों को ले जाने के लिए विशेष रेलगाड़ियों के साथ, कुछ ट्रक चलाने वाले चालक भी चले जाएंगे। ट्रक चालक अपने अपने गांव को लौट रहे है और जिसके कारण सड़क पर ट्रकों की आवाजाही 20% प्रतिशत तक रह सकती है। उन्होंने कहा, अगर हम ड्राइवरों को काम पर लाने में विफल रहते हैं तो आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति प्रभावित हो सकती है।

ट्रक चालकों की घरवापसी से ट्रांसपोर्टर्स चिंतित यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here