केन्या को फिर से चीनी निर्यात शुरू करने की युगांडा को उम्मीद कम

141

कंपाला / नैरोबी : स्थानीय चीन उद्योग को बचाने और घरेलू चीनी उत्पादन में वृद्धि के अनुमानों के चलते केन्या ने युगांडा की चीनी आयात पर रोक लगा दी है। हालांकि, युगांडा को केन्या को चीनी निर्यात को फिर से शुरू करने की उम्मीद धुंदली होती हुई नजर आ रही है। केन्या के कृषि मंत्रालय ने सरकारी और निजी समूहों द्वारा चीनी उद्योग में बढ़ाए गए निवेश के कारण चीनी उत्पादन में लगातार वृद्धि की सूचना दी है। 2020 में चीनी उद्योग की स्थानीय उत्पादन क्षमता 2019 में 440,935 टन की तुलना में बढ़कर 603,788 टन हो गई है। चीनी उत्पादन में वृद्धि से केन्या में पिछले दो महीनों में चीनी की कीमतों में भी गिरावट आई है, जिसमें Shs6,650 (KSh225) की तुलना में Shs6,237 (KSh189) की औसत से दो किलो पैकेट खुदरा बिक्री हुई है।

युगांडा अपने सबसे बड़े व्यापार भागीदारों में से एक केन्या को चीनी निर्यात को फिर से शुरू करने की उम्मीद कर रहा था, लेकिन अब चीनी निर्यात बिलकुल ठप्प हुई है। युगांडा शुगर मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष जिम कबेहो ने कहा कि, उन्हें नहीं पता कि केन्या में क्या चल रहा है, और युगांडा की चीनी आयत क्यों रोक दी गई है। उन्होंने कहा कि, उन्होंने (केन्याई अधिकारियों ने) कहा कि वे सत्यापन करने के लिए एक टीम भेज रहे हैं। जनवरी में टीम आने वाली थी; उन्होंने फरवरी को स्थगित कर दिया, अब हम नहीं जानते कि वे कब आएंगे। काबेहो ने कहा, अब तक सत्यापन और निरीक्षण के दो प्रयास विफल रहे हैं और केन्या से इस विषय पर कम प्रतिबद्धता है। अब स्थानीय आयात में सुधार के लिए आयात पर जोर दिया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here