केन्या: युगांडा से चीनी आयात सबसे महंगी साबित हो रही है

240

नैरोबी / कम्पाला : मई के आकंड़ो से पता चलता है की, Common Market for Eastern and Southern Africa (Comesa) बाजारों में युगांडा से केन्या सबसे महंगी चीनी आयात करता है, और अगर दाम ऐसे ही रहे तो आने वाले दिनों में उपभोक्ताओं को चीनी के लिए ज्यादा कीमत का भुगतान करना पड़ सकता है। सस्ती चीनी आयात आम तौर पर केन्या में चीनी की कीमत को कम रखने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं।

चीनी निदेशालय के आंकड़ों से पता चलता है कि, जिम्बाब्वे जैसे देश Sh59,279 के तुलना में युगांडा की आयातित एक टन चीनी लागत Sh64,420 है, वही मिस्र Sh61,842 और मॉरीशस Sh59,342 से चीनी आयात लागत यूगांडा की तुलना में काफी कम है।निदेशालय ने कहा, स्वाज़ीलैंड की चीनी प्रति टन Sh54,209 औसत के साथ सबसे सस्ती थी।

अधिकांश केन्याई व्यापारियों ने अतिरिक्त लागत के कारण युगांडा से ज्यादा मिस्र से चीनी आयात करने का विकल्प चुना। जनवरी और मई के बीच आयात किए गए कुल 207,000 टन में से युगांडा से केवल 25,000 टन निर्यात हुआ है।

केन्या देश में चीनी उपभोग के लिए आयातित चीनी पर अधिक निर्भर करता है क्योंकि यहाँ चीनी उत्पादन की लागत आम तौर पर महंगा है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here