अमेरिकी सीनेटरों ने एथेनॉल निति को लेकर भारत की प्रशंसा की…

244

वाशिंगटन डीसी: अमेरिकी सीनेटरों ने एथेनॉल निति को लेकर भारत की प्रशंसा की है। नौ अमेरिकी सीनेटरों के समूह ने मंगलवार को राष्ट्रपति जो बाइडेन से देश की ऊर्जा और जलवायु एजेंडा के लिए एक प्रमुख समाधान के रूप में जैव ईंधन को बढ़ावा देने का आग्रह किया और कहा कि इस संबंध में एथेनॉल के लिए लक्ष्य निर्धारित करने के भारत के प्रयास उत्साहजनक हैं।

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, सीनेटरों ने लिखा है कि, श्रीमान राष्ट्रपति, जैव ईंधन एक आसानी से उपलब्ध ऊर्जा समाधान है जो न केवल ईंधन की कीमतों में हालिया वृद्धि को रोकने में मदद करने के लिए, बल्कि परिवहन उत्सर्जन में कमी के एक मूलभूत स्रोत के रूप में कारगर कदम साबित हो सकता है। कृषि, पोषण और वानिकी पर सीनेट समिति के एक लंबे समय के सदस्य, सीनेटर जॉन थ्यून के नेतृत्व में, नौ सीनेटरों ने अमेरिकी कृषि की पूरी क्षमता का उपयोग करने के लिए बिडेन प्रशासन से आह्वान किया। सीनेटरों ने अपने पत्र में लिखा है की, भारत ने 2022 तक 10 प्रतिशत एथेनॉल सम्मिश्रण और 2025 तक 20 प्रतिशत तक बढ़ाने का लक्ष्य रखा है। भारत का यह कदम काफी सराहनीय है, और हमे अपने देश के किसानों के हितों को और पर्यावरण के लिए ऐसा कदम उठाना चाहिए।

भारत 2025 तक 20% एथेनॉल मिश्रण हासिल करने की राह पर है। देश मौजूदा स्तर से 2025 तक 20% प्रतिशत एथेनॉल उत्पादन करने में कामयाब हो सकता है।

2013-14 में शुरू किया गया भारत का महत्वाकांक्षी एथेनॉल ब्लेंडिंग प्रोग्राम (ईबीपी) अब देश के सभी राज्यों में पहुंच गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here