“मिलों के लाभदायक संचालन के लिए नई तकनीक का इस्तेमाल जरूरी”

825

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

बेलगावी: एस. निजलिंगप्पा शुगर इंस्टीट्यूट ने जे.पी.मुखर्जी अँड एसोसिएट्स के साथ मिलकर 27 अप्रैल को ‘मिलिंग परफॉर्मेंस इम्प्रूवमेंट – ए रिव्यू’ सेमिनार का आयोजन किया था। इस एक दिवसीय सेमिनार में नई प्रौद्योगिकियों और अन्य आवश्यक पहलुओं पर बातचीत शामिल थी।

सेमिनार का उद्घाटन वरिष्ठ चीनी तंत्रज्ञ आर. वी. वटनल ने किया, उन्होंने अपने संबोधन में मिलों के लाभदायक संचालन के लिए नई तकनीक के इस्तेमाल पर जोर दिया। एस. निजलिंगप्पा चीनी संस्थान के निदेशक डॉ.आर.बी. खंडगवे ने चीनी मिलों के बेहतर संचालन के लिए प्रौद्योगिकियों के उन्नयन के बारे में अपनी बात रखी।

जे.पी.मुखर्जी अँड एसोसिएट्स के प्रबंध निदेशक डॉ. एम. एस. सुंदरम ने कहा, चीनी मिलों को अपनी कार्यक्षमता को बढाने के लिए अपने प्लांट में तकनिकी सुधार करने चाहिए। जिससे चीनी मिलों को और अच्छा मुनाफा हो सके।

सेमिनार के दौरान, उद्योग के विशेषज्ञों ने तकनीकी पेपर प्रस्तुत किए। इस संगोष्ठी में 95 से अधिक प्रतिभागी और कर्नाटक और महाराष्ट्र के टेक्नोक्रेट भी शामिल हुए। ‘एसएनएसआई’ बेलगावी के एचओडी ए.गुरुनाथ ने प्रतिनिधियों, अतिथि व्याख्याताओं का स्वागत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here