उत्तर प्रदेश: चीनी मिलों की पेराई क्षमता का होगा विस्तार

105

धामपुर, उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश हर साल गन्ना उत्पादन की नई ऊंचाईयों को छू रहा है। रिकॉर्ड गन्ना उत्पादन के चलते कई ज़िलों में पेराई में देरी हो रही है, जिसका खामियाजा गन्ना किसानों को भुगतना पड़ता है। इस बात को देखते हुए प्रदेश में आठ चीनी मिलों द्वारा पेराई क्षमता का विस्तारीकरण किया जा रहा है।

अमर उजाला डॉट कॉम में प्रकाशित खबर के मुताबिक, आठ में से तीन मिलें डीएसएम ग्रुप की हैं। ग्रुप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी संदीप शर्मा इस विस्तारीकरण पर बात करते हुए कहा कि, पेराई क्षमता के विस्तारीकरण से किसान खाली समय में खेतों में रबि आदि की फसलो को बोकर बढ़िया मुनाफा कमा सकता है। विस्तारीकरण में डीएसएम ग्रुप की असमौली, मीरगंज व रजपुरा की चीनी मिलें शामिल हैं। साथ ही जिले की बूंदकी चीनी मिल के पेराई क्षमता का विस्तारीकरण किया जा रहा है। अन्य चीनी मिलों में मैजापुर, निगोही, जवाहरपुर व फरीदपुर की चीनी मिल शामिल हैं।

विस्तार होने से गन्ना किसानों को बहुत मदद मिलेगी। उत्तर प्रदेश सरकार भी लगातार प्रयास कर रही है की किसानों को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं हो इसके लिए वे कई अहम् निर्णय भी ले रही है।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here