उत्तर प्रदेश: गन्ना तौल में अनियमितताओं के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन

371

लखनऊ: तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के विरोध के बीच, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर जिले में भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत के गृह नगर में गन्ना तौल में स्थानीय चीनी मिल द्वारा होनेवाले कथित अनियमितताओं के खिलाफ किसानों ने विरोध प्रदर्शन किया।सोमवार की सुबह, गुस्साए किसानों ने अपने गन्ने से लदी ट्रैक्टर ट्रॉलियों को राजमार्गों पर खड़ा कर दिया, जिससे सड़क पर जाम लग गया।

न्यूज क्लिक डॉट इन में प्रकाशित खबर के मुताबिक, गन्ना किसान अभिमन्यु चौधरी ने कहा कि, तौल के इंतजार में तीन दिन से ज्यादा हो गए हैं। फिर भी, उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि उनके काम करने में एक और दो दिन लगेंगे ताकि वह अपने गन्ने को चीनी मिल में ले जा सकें।यूपी के शोरम गांव के मूल निवासी चौधरी ने बताया की, मैंने बुढाना तहसील की इस चीनी मिल तक पहुँचने के लिए 40 किमी से अधिक की यात्रा की। केवल मैं ही नहीं, बल्कि बड़ी संख्या में गन्ना किसान अपनी बारी आने की राह देख रहे हैं, और चिलचिलाती धूप में सूख रहे गन्ने के भार को लेकर परेशान है। जब तक माप के लिए गन्ने की बारी आती है तब तक गन्ने का वजन कम हो जाता है और गन्ने का वजन कम होने पर किसानों को नुकसान होगा। चौधरी अकेले किसान नहीं हैं, सैकड़ों किसान ट्रैक्टर ट्रॉलियां लेकर खड़े है, जिनमें से प्रत्येक में औसतन 300 क्विंटल गन्ना लदा हैं। बीकेयू नेता नरेश चौधरी ने कहा, वेस्ट यूपी में गन्ना किसानों का कम से कम 12,000 करोड़ रुपये बकाया हैं। किसानों को उचित दर नहीं मिल रही है और फिर उन्हें जो भी दर मिलती है, उसका भुगतान भी लंबित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here