उत्तर प्रदेश सरकार का गन्ना उद्योग के माध्यम से रोजगार के अवसर बढ़ाने पर जोर

78

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने किसानों की आय को दोगुना करने के निरंतर प्रयासों ने राज्य में गन्ने की खेती को बढ़ाने के लिए प्रभावी उपाय किए हैं। यूपी सरकार राज्य में चीनी उद्योग को एक नई ऊंचाई पर ले जाने की तैयारी कर रही है। चीनी मिलों की क्षमता बढ़ाने के अलावा, सरकार गन्ने के माध्यम से बड़े पैमाने पर रोजगार भी पैदा करेगी। यूपी के सीएम ने निति आयोग के समक्ष राज्य में चीनी उद्योग और गन्ना उत्पादन के विकास का रोडमैप प्रस्तुत किया। राज्य सरकार ने न केवल पिछली सरकारों के कार्यकाल के दौरान बंद की गई चीनी मिलों को फिर से शुरू किया, बल्क़ि पहले से मौजूद मिलों के आधुनिकीकरण और नई मिलों को शुरू करने पर भी ध्यान केंद्रित किया गया, जिसके चलते उत्तर प्रदेश ने देश में सबसे अधिक चीनी उत्पादन का नया रिकॉर्ड बनाया।

सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश इथेनॉल के माध्यम से गन्ने को हरा सोना बनाने की कोशिश कर रहा है। जनवरी, 2021 तक 54 डिस्टिलरी के माध्यम से राज्य में कुल 261.72 करोड़ लीटर इथेनॉल का उत्पादन करने वाला इथेनॉल का शीर्ष उत्पादक बन गया। 25 वर्षों में पहली बार, 243 नई खंडसारी इकाइयों की स्थापना के लिए लाइसेंस जारी किए गए थे, जिनमें से 133 से अधिक इकाइयों का संचालन किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here