उत्तर प्रदेश: पिछले कुछ सीजनों में गन्ना भुगतान में दिखी तेजी

148

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने गन्ना किसानों को बकाया भुगतान करके राज्य में एक नया रिकॉर्ड बनाया है। Dailypioneer.com के मुताबिक, आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, योगी आदित्यनाथ सरकार सत्ता में आने के दौरान 19 मार्च, 2017 से अब तक 1.22 लाख करोड़ रुपये का संचयी भुगतान किया गया है। योगी सरकार ने प्रति हेक्टेयर गन्ने की पैदावार और चीनी मिलों द्वारा गन्ने की पेराई का भी रिकॉर्ड बनाया है। योगी सरकार ने पिछली सरकार के बकाया सहित गन्ना किसानों को सबसे ज्यादा भुगतान करने का नया रिकॉर्ड बनाया है। भुगतान के साथ, सरकार ने पुरानी मिलों के आधुनिकीकरण और नए लोगों की स्थापना पर अधिकतम जोर दिया है। इस क्रम में लगभग दो दर्जन मिलों की क्षमता बढ़ाई गई।

गोरखपुर के पिपराइच, बस्ती में मुंडेरा और बागपत जिले के रमाला में नई चीनी मिलें स्थापित की गईं। नई मिलों के खुलने और पुरानी मिलों के आधुनिकीकरण ने गन्ना किसानों को लाभान्वित किया है, जबकि सपा और बसपा के शासनकाल में 2007 से 2017 तक 29 चीनी मिलें बंद हो गईं। राज्य सरकार ने स्थानीय स्तर पर गन्ने की पेराई के लिए 100 घंटे के भीतर खांडसारी इकाइयों को ऑनलाइन लाइसेंस जारी करने की व्यवस्था की है। अब तक, 105 से अधिक इकाइयों को लाइसेंस जारी किए गए हैं, जिन्होंने पेराई क्षमता को बढ़ाकर 27,850 टीडीएस कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here