उत्तर प्रदेश सरकार का फूड प्रोसेसिंग क्षेत्र के लिए नई नीति लाने पर विचार

255

लखनऊ: खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में 12,970 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश के बाद, योगी आदित्यनाथ सरकार इस क्षेत्र के लिए एक नई नीति लाने पर विचार कर रही है। विशेषज्ञों का कहना है कि, इससे किसानों को उनकी आय दोगुनी करने में मदद मिल सकती है और यह निति रोजगार भी पैदा कर सकती है।

Dailypioneer.com में प्रकाशित खबर के मुताबिक, सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा कि, नई नीति से सभी बड़े – बड़े उद्योगों को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि, नई नीति के तहत, बड़े उद्योगों को 100 करोड़ रुपये तक की सब्सिडी मिलेगी। उन्होंने कहा कि, नीति का मसौदा तैयार है और सरकार जल्द ही इस पर निर्णय लेगी।

बागवानी और खाद्य प्रसंस्करण विभाग के निदेशक डॉ आरके तोमर के अनुसार, यूपी में अपार संभावनाएं हैं। राज्य देश में गन्ने का सबसे बड़ा उत्पादक और सब्जियों का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है। उत्तर प्रदेश भारत में लौकी, मटर, आलू, तरबूज और कद्दू का सबसे बड़ा उत्पादक है। राज्य शकरकंद का तीसरा सबसे बड़ा उत्पादक भी है। उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा दूध उत्पादक राज्य भी है, जिसका देश में उत्पादित कुल दूध का लगभग 17.6 प्रतिशत (23.3 मिलियन टन) है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here