उत्तराखंड में गन्ना मूल्य नहीं बढ़ने से किसान नाराज़; गन्ना मूल्य 425 रुपए प्रति क्विंटल करने की मांग

1629

डोईवाला: उत्तराखंड सरकार ने हालही में घोषित गन्ना मूल्य में कोई बदलाव नहीं किया है, जिसके चलते वे काफी नाराज़ दिख रहे है। देहरादून स्थित डोईवाला क्षेत्र के 10 हजार से अधिक गन्ना किसानों में राज्य सरकार द्वारा गन्ने के मूल्य में इजाफा नहीं करने से नाराजगी जताई है। राज्य सरकार की बेरुखी को लेकर किसानों ने कमर कस लिया है। उनका कहना है कि एक तो गन्ने के उत्पादन लागत काफी अधिक है, उपर से राज्य सरकार की घोषित मूल्य काफी कम है। ऐसे में हमें भारी नुकसान हो रहा है।

गन्ना किसानों के मुताबिक उत्तराखंड की सरकार ने सामान्य प्रजाति के लिए 317 और अगेती प्रजाति के लिए 327 रुपये प्रति क्विंटल गन्ना मूल्य घोषित किया है। गत दो साल से इसमें कोई वढ़ोतरी नहीं हुई है। इसलिए किसान मायूस हैं। हलहाकि यह गन्ना भाव उत्तर प्रदेश के मुकाबले 2 रूपये ज्यादा है।

क्षेत्र के एक नाराज़ किसान ने कहा कि सरकार गन्ने का मूल्य नहीं बढ़ाना चाहती। इसका साफ अर्थ है कि वह किसानों के माली हालत में सुधार होना नहीं देखना चाहती। गन्ना किसान दावा कर रहे है की खेती की सारी चीजें महंगी होती जा रही हैं। गन्ने के पुराने मुल्य से कोई भी किसान सुखी नहीं हो सकता। किसान मांग कर रहे है की गन्ना मूल्य कम से कम 425 रुपए प्रति क्विंटल होनी चाहिए।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here