विजयसिंह मोहिते-पाटील की चीनी मिल कि बिक्री हुई 125 करोड़ में

387

सोलापुर: चीनी मंडी

राकांपा विधायक बबनराव शिंदे के विठ्ठलराव शिंदे चीनी मिल ने करकंब (ता। पंढरपुर) में विजयसिंह मोहिते-पाटील सहकारी चीनी मिल को 125 करोड रूपये में खरीद लिया है, जिस मिल का मालिकाना हक वरिष्ठ नेता विजय सिंह मोहिते-पाटिल के परिवार के पास था। सोलापुर जिला केंद्रीय सहकारी बैंक का इस चीनी मिल पर लगभग 183 करोड़ रुपये का कर्ज था। जब बैंक ने चीनी मिल की नीलामी का आह्वान किया, तो विट्ठलराव शिंदे सहकारी चीनी मिल ने 125 करोड 10 लाख रूपयें मे खरीद लिया।खास बात तो यह है कि, मोहित-पाटिल और बबनराव शिंदे सोलापुर जिले की राजनीति के विरोधी माने जाते हैं। यह पृष्ठभूमि तब से चर्चा का विषय है ।

मोहिते-पाटिल परिवार ने पंढरपुर तालुका के करकंब में एक विजय चीनी मिल की स्थापना की थी। इसके लिए सोलापुर जिले के केंद्रीय सहकारी बैंक से ऋण लिया गया था। लेकिन जब से चीनी मिल शुरू कि थी, उसी मौसम में चीनी की कीमतों में गिरावट और अन्य कारणों से समस्याएं पैदा हुई। इसके कारण जिला बैंक द्वारा बकाया ऋण में वृद्धि हुई थी। इस बीच,जिला बैंक के सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बर्खास्तगी और उसके प्रशासनिक कर्तव्यों को फिर से शुरू करने के बाद, प्रशासक शैलेश कोथिम्बिरे ने बकाया ऋणों की वसूली के लिए व्यापक प्रयास किए। इसमें, करकंब में मोहिते-पाटिल के विजय चीनी मिल की संपत्ति पहले ही जब्त कर ली गई थी।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here