वसंतदादा शुगर इंस्टीट्यूट को किसानों के हित में अनुसंधान कार्य के लिए जमीन दी गई है: नवाब मलिक

239

मुंबई: भाजपा ने गुरुवार को जालना जिले में राज्य सरकार द्वारा 51 हेक्टेयर जमीन वसंतदादा शुगर इंस्टीट्यूट को देने के बाद इसकी कड़ी आलोचना की है। वसंतदादा शुगर इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष शरद पवार है। राज्य के भाजपा के प्रवक्ता माधव भंडारी ने यह आरोप लगाया कि जब भी उनकी पार्टी सत्ता में होती है, तो पवार या उनके करीबी लोगों के नेतृत्व वाले संस्थानों को सरकारी भूमि “उपहार” दी जाती है।

हालांकि, महाराष्ट्र के मंत्री और राकांपा नेता नवाब मलिक ने स्पष्ट किया कि पवार की अगुवाई में पुणे स्थित वसंतदादा शुगर इंस्टीट्यूट को किसानों के हित में अनुसंधान कार्य करने के लिए जमीन दी गई है, न कि उसे बेचा गया है।

मलिक ने कहा कि भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बुधवार को राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में चर्चा के लिए आने से पहले जमीन के आवंटन से संबंधित एक फाइल को मंजूरी दे दी थी। उन्होंने विपक्षी दल से पूछा कि क्या ऐसा करने में फडणवीस “गलत” थे। मलिक ने कहा कि जमीन आवंटित करने के निर्णय लेने में कोई अनियमितता नहीं बरती गई है।

उन्होंने कहा कि वीएसआई किसानों के हित में काम करता है और पूर्व सरकारों से भी इसे अनुदान प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि मध्य महाराष्ट्र के जालना में वीएसआई की शाखा है। यह शाखा मराठवाड़ा में किसानों के हित में काम करेगी क्योंकि इस क्षेत्र में आज गन्ने की खेती बड़े पैमाने पर की जा रही है।

सामाजिक न्याय विभाग द्वारा आयोजित एक मीटिंग को संबोधित करते समय पवार ने इस तरह के व्यापक कार्यक्रम को शुरू करने की आवश्यकता पर जोर दिया।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here