पाकिस्तान में कम कीमतों में चीनी बेचने का आदेश

465

रावलपिंडी: पाकिस्तान में चीनी की कीमतें दिनोंदिन बढ़ रही हैं, जिसके बाद सरकार ने इसे गंभीरता से लिया है और प्रभागीय आयुक्तों को खुले बाजार में चीनी की कीमतें कम करने का निर्देश दिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, थोक बाजार में चीनी का दाम 76 रुपये प्रति किलो तक पहुंच चूका है।

निर्देशों के बाद, जिला प्रशासन ने थोक बाजार में चीनी का मूल्य 74 रुपये प्रति किलो निर्धारित किया। इस संबंध में, जिला प्रशासन ने कहा कि उसने मूल्य को लागू करने के लिए बाजारों में छापेमारी करने की योजना बनाई है।

पहले खुदरा विक्रेताओं को थोक बाजार की तुलना में 3 रुपये प्रति किलो अधिक चीनी बेचने की अनुमति थी। लेकिन प्रशासन ने खुदरा बाजार में लाभ को कम करके 2 रुपये प्रति किलोग्राम कर दिया है। लेकिन रिपोर्टों के अनुसार, खुदरा विक्रेताओं ने इसे कम कीमतों पर बेचने से इनकार कर दिया। खुदरा विक्रेताओं का दावा है कि उन्हें परिवहन की लागत सहित पैकिंग सामग्री का भार उठाना पड़ता है, इसलिए उन्हें 3 रुपये प्रति किलो ला लाभ जरुरी है।

पिछले दो महीनों में, देश में चीनी की कीमतों में अचानक वृद्धि देखी गई क्योंकि रमजान में चीनी नागरिको के लिए 54 रुपये प्रति किलोग्राम पर उपलब्ध था।

जून में पाकिस्तान सरकार ने 3.30 रुपये प्रति किलोग्राम चीनी का कर पेश किया। इसके बाद ऐसी खबरें आईं कि इसे बाजार में अत्यधिक दरों पर बेचा जा रहा है। साथ ही, चीनी जमाखोरी की शिकायतों के बाद, सरकार ने चीनी केजमाखोरों पर कार्रवाई शुरू की और चीनी के हजारों बैग जब्त किए।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here