जरुरत पड़ी तो चीनी मिलों को बेचकर गन्ना किसानों का बकाया चुकाया जाएगा: योगी आदित्यनाथ

401

लखनऊ : चीनी मंडी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को कहा कि, वह किसी को भी किसानों का शोषण नहीं करने देंगे और अगर सरकार को ‘डिफाल्टर मिलों की नीलामी’ करनी पड़ी तो भी गन्ने का बकाया भुगतान सुनिश्चित किया जाएगा। आदित्यनाथ ने यहां कृषि महाविद्यालय के भवन का उद्घाटन करते हुए कहा, “अगर किसी को यह गलतफहमी है कि वह किसानों को गन्ना भुगतान रोककर कमाई करने जा रहा है, तो वह गलत है। गन्ना किसानों को कोई चिंता नहीं करनी चाहिए, सरकार उनके पीछें चट्टान की तरह खड़ी है।

उन्होंने कहा, अगर जरूरत पड़ी तो हम डिफाल्टर मिलों को नीलाम करेंगे। हमने महाराजगंज में एक ऐसी मिल की नीलामी करके गन्ना किसानों का बकाया चुकाया है। जल्द ही हम चीनी मिलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने जा रहे हैं जो गन्ना किसानों को भुगतान नहीं कर रहे हैं। लखीमपुर खेरी में नौ चीनी मिलें हैं, जिनमें से 6 में गन्ना मूल्य चुकाया गया है। हम जल्द ही उन शेष तीन मिलों के आसपास शिकंजा कस देंगे, जिन्होंने बकाया भुगतान नहीं किया है। मुख्यमंत्री ने किसानों से गन्ने और गन्ने के पत्तों को जलाने से रोकने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, इसकी वजह से दिल्ली-एनसीआर सहित पूरे राज्य में धुंध है, जो पर्यावरण और स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक है। लोगों को सांस की समस्या भी हो रही है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here