“गन्ना किसानों का एक एक रूपया ब्याज सहित दिलवाकर रहूंगा”

386

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

मुजफ्फरनगर (उप्र.), 25 मई, उत्तर प्रदेश के गन्ना का कटोरा कही जाने वाली पश्चिम यूपी की सबसे प्रतिष्ठित सीट मज्जफरनगर से भाजपा प्रत्याशी और पूर्व केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री डॉ. संजीव कुमार बालियान ने अपनी जीत का श्रेय गन्ना किसानों को देते हुए कहा कि ये जीत किसानों के अधिकारों की जीत है। उनके हक के लिए मैने बीते पांच साल लगातार मंत्री रहते हुए और मंत्री पद से हटने के बाद भी काम किया जिसका प्रतिफल आज मिला है।

अपने गृह नगर के कुटबे गांव में जीत के बाद पहुचे डॉ. बालियान ने कहा कि मेरे सामने सबसे बडी चुनौती गन्ना किसानों का मिलों पर चल रहा बकाया का यथा शीघ्र भुगतान कराना है। बालियान ने कहा कि चुनावी व्यस्तता से अब फ्री हो गए है अब पूरा ध्यान गन्ना किसानों की समस्याओं के निदान के लिए रूटमैप बनाकर काम करने पर होगा।

इस दौरान कुटबे गांव के गन्ना किसान देवी सिंह द्वारा जिले की टिकोला, भेसानी और खैलखेदी चीनी मिलों में किसानों का करोडों रुपयों का बकाया होने के बावजूद चीनी मिलों द्वारा गन्ना पेराई का काम बंद कर दिये जाने की शिकायत की तो बालियान ने कहा कि इस मामले को वो खुद मुख्यमंत्री के सामने उठायेंगे और कल जिला गन्ना अधिकारी से सारी रिपोर्ट भी लेंगे।

डॉ. बालियान ने कहा कि किसानों का एक एक रूपया ब्याज सहित दिलवाकर वो रहेंगे चाहे इसके लिए कुछ भी करना पडे।

डॉ संजीव बालियान ने कहा कि उनके सामने भी पूर्व केन्द्रीय कृषि मंत्री अजीत सिहं प्रत्याशी थे लेकिन उन्होने कभी किसानों की सुध नहीं ली। जबकि मैने किसानो के साथ लगातार संवाद किया उनके बीच रहा उसी का परिणाम है कि ये चुनाव मैने नहीं बल्कि गन्ना किसानों ने लड़ा।

बालियान ने कहा कि जिलाधिकारी आर डी द्विवेदी को वो पत्र लिखेंगे कि भविष्य में बिना किसानों के बकाया जमा कराए कोई भी चीनी मिल गन्ना पैराई सत्र समाप्त नहीं करेगी।

गौरतलब है कि मुजफ्फरनगर सीट से मौजूदा सांसद भाजपा प्रत्याशी डॉ. संजीव कुमार बालियान ने गठबंधन उम्मीदवार राष्ट्रीय लोक दल प्रमुख चौधरी अजित सिंह को 6526 मतों से हराया है। अजीत सिंह पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पुत्र है औऱ केन्द्रीय कृषि मंत्री रह चुके है।

Download the Chinimandi Sugar News app now – http://bit.ly/chinimandi-app

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here