महिलाओं को मिलेगा गन्‍ना खेती का आधुनिक प्रशिक्षण…

331

कोल्हापुर : चीनी मंडी

महिलाएं कृषि, डेयरी व्यवसाय में पहले से ही अग्रणी है, इतना ही नही खेतों में कौनसा भी काम हो, वह पुरूषों के कंधो से कंधा मिलाकर बडी सक्षमता से करती आ रही है। अब कोल्हापुर जिले के पाडली खुर्द गांव कि 40 महिलाओं को गन्‍ना खेती करने का शास्त्रीय प्रशिक्षण दिया जाएगा।

आत्मा संस्थान और श्री भैरवनाथ कृषि स्वयं सहायता समूह के सहयोग से वसंतदादा शुगर इन्स्टिट्युट (वीएसआई) में इस तीन दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया है। इस प्रशिक्षण के दौरान गन्‍ने कि किस्में, एक हेक्टेयर में 250 टन गन्‍ने का उत्पादन, चीनी उद्योग कि वर्तमान स्थिती और भविष्य, गन्‍ना और चीनी मिलों का ग्रामीण अर्थव्यवस्था में योगदान, चीनी उद्योग के सामने कि चुनौतियां आदि विषयों पर मार्गदर्शन किया जाएगा। कम क्षेत्र में जादा गन्‍ना उत्पादन पर प्रशिक्षण में जोर दिया जाएगा। महिलाओं को यह भी बताया जाएगा कि, गन्‍ने के खेती के लिए गन्‍ने कि प्रजनन तकनिक कितनी फायदेमंद है। गन्‍ने के खेती के आधुनिक तरीके, गन्‍ना फसल प्रबंधन, सिंचाई प्रणाली, ड्रिप इरिगेशन आदि विषयों कि जानकारी दि जाएगी। इस प्रशिक्षण में अरूणा पाटिल, सुजाता पाटिल, वैशाली साहेनी, सुवर्णा पाटिल, लिलावती मोहिते, मेघा पाटिल, अक्‍काताई पाटिल, शारदा पाटिल, अंजली पाटिल समेत 40 महिलाएं शामिल होंगी।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here