यमुनानगर चीनी मिल पिछले सीजन की तुलना में एक सप्ताह पहले पेराई शुरू करेगी

106

यमुनानगर: सरस्वती शुगर मिल्स (SSM), यमुनानगर के प्रबंधन ने 16 नवंबर से अपना पेराई सत्र शुरू करने का फैसला किया है। पिछले साल, मिल ने 24 नवंबर को अपना संचालन शुरू किया था। मिल से जुड़े 672 गांवों के किसान इस फैसले से खुश हैं क्योंकि वे गन्ने की फसल की कटाई के बाद 25,000 एकड़ में समय पर गेहूं की फसल बो सकेंगे। प्रति दिन 1 लाख क्विंटल की पेराई क्षमता के साथ, यह मिल देश की सबसे बड़ी चीनी मिलों में से एक है। मिल का कमांड एरिया लगभग 90,000 एकड़ (यमुनानगर और अंबाला और कुरुक्षेत्र के कुछ हिस्सों को मिलाकर) है।

चीनी मिल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष डीपी सिंह ने कहा, इस साल, हम पिछले साल की तुलना में एक सप्ताह पहले पेराई अभियान शुरू कर रहे हैं। उन्होंने कहा की, गन्ना रोपण के समय हमने किसानों को 2021-22 सीजन के दौरान जल्द से जल्द पेराई शुरू करने का आश्वासन दिया था। मिल ने पिछले साल 162 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई की थी। उन्होंने कहा कि, इस साल 175 लाख क्विंटल गन्ना पेराई का लक्ष्य रखा है। पिछले पेराई सत्र में हमने गन्ना किसानों को 565 करोड़ रुपये का भुगतान किया था और कोई भुगतान लंबित नहीं है। उन्होंने कहा कि, मिल का प्रबंधन सुनिश्चित करेगा कि किसानों को गन्ना पेराई का मौसम परेशानी से मुक्त रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here