योगी सरकार द्वारा ग्रामीण महिलाओं के आर्थिक उन्नति के लिए गन्ना खेती को बढ़ावा

245

लखनऊ : गन्ने की खेती में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने और ग्रामीण क्षेत्रों में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए, योगी आदित्यनाथ सरकार ने महिलाओं को गन्ना रोपाई तैयार करने का प्रशिक्षण देने का निर्णय लिया है। महिलाएं गन्ना किसानों को इन रोपों को बेचकर अतिरिक्त कमाई कर सकती हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, विभाग द्वारा अब तक 145 महिला स्वयं सहायता समूहों में 1,399 ग्रामीण महिलाओं को प्रशिक्षित किया जा चुका है। इस उद्देश्य के लिए आवश्यक मशीनें चीनी मिलों के सहयोग से रियायती दरों पर उपलब्ध कराई जा रही हैं।

राज्य के गन्ना आयुक्त संजय भूसरेड्डी ने कहा, राज्य में नकदी फसल के रूप में गन्ने की बड़े पैमाने पर खेती की जाती है और गन्ना उगाने वाले जिलों में रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। गन्ना विभाग ने ग्रामीण महिलाओं और स्वयं सहायता समूहों के गठन का फैसला किया है। महिलाओं को गन्ना नर्सरी तैयार करने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा और इससे रोजगार पैदा होगा और अतिरिक्त आय सुनिश्चित होगी। गन्ना विकास परिषद और चीनी मिलों ने संयुक्त रूप से महिलाओं के स्वयं सहायता समूहों की स्थापना के लिए उन्हें प्रशिक्षण देने के लिए गांवों का चयन किया है। ऐसे स्वयं सहायता समूहों को पहले 24 जिलों में प्रशिक्षित किया गया था, गोरखपुर और महाराजगंज को हाल ही में सूची में जोड़ा गया है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here