जिम्बाब्वे के चीनी निर्यात में 29 प्रतिशत की वृद्धि

235

हरारे: ज़िम्बाब्वे शुगर एसोसिएशन और ज़िम्बाब्वे शुगर सेल्स (ZSS) ने एक संयुक्त बयान में कहा कि, जिम्बाब्वे चीनी उद्योग सुरक्षित और पर्यावरणीय रूप से जिम्मेदार तरीके से स्थानीय और निर्यात दोनों बाजारों में उच्चतम गुणवत्ता की चीनी का उत्पादन और वितरण करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।

जिम्बाब्वे के चीनी निर्यातकों ने उन रिपोर्टों को खारिज कर दिया है कि केन्या में कथित तौर पर खराब गुणवत्ता के कारण जिम्बाब्वे से 12 मिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक की 20,000 टन ब्राउन शुगर नष्ट हो गई थी।

जिम्बाब्वे शुगर एसोसिएशन और ज़िम्बाब्वे शुगर सेल्स ने एक संयुक्त बयान में कहा कि सही स्थिति यह थी कि ज़िम्बाब्वे ने 2018 में केन्या को कुल 61,623 टन ब्राउन शुगर का निर्यात किया और उस राशि में से 1,000 टन की एक खेप केन्याई पैकेज मुद्रण और लेबलिंग मानकों के हिसाब से विफल रही।

31 मार्च, 2021 को समाप्त पूरे वर्ष के वित्तीय परिणामों के साथ एक बयान में जिम्बाब्वे के चीनी उत्पादक, टोंगोट ह्यूलेट ने कहा कि, देश के चीनी निर्यात में 29 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जो बड़े पैमाने पर केन्या की मांग से प्रेरित है।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here