उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा की गई गन्ना मूल्य वृद्धि अपर्याप्त: टिकैत और विपक्षी दलों का दावा

86

लखनऊ: विभिन्न विपक्षी दलों के नेताओं, किसानों और किसान संगठनों के नेताओं ने उत्तर प्रदेश में गन्ने के खरीद मूल्य में 25 रूपये की वृद्धि को “अपर्याप्त” करार दिया है, और दावा किया है कि पिछले कुछ वर्षों में इस नकदी फसल को उगाने की लागत कई गुना बढ़ गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को राज्य में गन्ने के खरीद मूल्य में 25 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की घोषणा की थी, जिससे यह बढ़कर 350 रुपये प्रति क्विंटल हो गई।

भारतीय किसान संघ (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत ने मुजफ्फरनगर में बीकेयू के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक द्वारा जारी एक बयान में कहा कि यह उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किसानों पर एक बड़ा मजाक है। किसानों को 25 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी स्वीकार्य नहीं है। बीकेयू नेता टिकैत ने दावा किया कि, उत्तर प्रदेश के पड़ोसी राज्यों में गन्ने का खरीद मूल्य अधिक है और डीजल सस्ता है। उन्होंने कहा, उत्तर प्रदेश में डीजल महंगा होने के कारण राज्य सरकार की यह बढ़ोतरी नाकाफी है। उन्होंने सरकार को उनके ‘संकल्प पत्र’ की याद दिलाई, जिसमें गन्ने की कीमत बढ़ाकर 375 रूपये प्रति क्विंटल करने का वादा किया था, लेकिन घोषित कीमत हरियाणा और पंजाब की तुलना में कम है। हम मांग करते हैं कि, खेती में इस्तेमाल होने वाली वस्तुओं की बढ़ती कीमतों के बीच गन्ना खरीद मूल्य बढ़ाकर 425 रुपये प्रति क्विंटल किया जाए।

टिकैत ने दावा किया, किसान 10 महीने से अधिक समय से अपनी फसलों की पर्याप्त कीमत के लिए विरोध कर रहे हैं और गन्ने की कीमत में इतनी कम वृद्धि किसानों के लिए एक मजाक है। समाजवादी पार्टी के नेता और राज्य योजना आयोग के पूर्व सदस्य प्रो सुधीर पंवार ने आरोप लगाया कि इतनी कम वृद्धि ने राज्य सरकार के नंबर एक होने के दावे को बेनकाब कर दिया है। राष्ट्रीय लोक दल के वरिष्ठ नेता राजकुमार सांगवान ने कहा कि, वृद्धि अपर्याप्त है क्योंकि गन्ना उगाने की लागत कई गुना बढ़ गई थी। उन्होंने आगे कहा कि, खरीद मूल्य में इतनी कम वृद्धि किसानों का अपमान है और वे आगामी विधानसभा चुनाव में सरकार को सबक सिखाएंगे।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here