कोरोना वायरस के चलते हजारों करोड़ कीमत के करेंसी नोटों को नष्ट कर रहा है चीन

580

चीन: चीन अपने यहां फैले कोरोना वायरस के घातक प्रसार को रोकने के लिए अपनी मुद्रा को कीटाणु रहित करने के लिए उन्हें नष्ट कर रहा है। दक्षिण चीन के मॉर्निंग पोस्ट के हवाले से कहा गया है कि चीनी केंद्रीय बैंक की गुआंगज़ौ शाखा ने आदेश दिया है कि वायरस के संपर्क वाले क्षेत्रों में कागजी मुद्रा को नष्ट किया जाए।

गुआंगज़ौ हुबेई प्रांत के दक्षिण में है, जहां कोरोना वायरस का प्रकोप सबसे ज्यादा है। दक्षिण चीन मॉर्निंग पोस्ट के अनुसार बैंक शाखा अस्पतालों, किसान बाजारों और बसों से सभी बैंक नोटों को नष्ट किया जा रहा है।

वाणिज्यिक बैंकों को निर्देश दिया गया है कि कुछ क्षेत्रों के बैंक नोटों कीटाणुरहित करने और उन्हें पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना को सौंपने का निर्देश दिया जा रहा है। केंद्रीय बैंक मुद्रा को कीटाणुरहित करने के लिए उच्च तापमान और अल्ट्रावायलेट लाइट जैसे उपकरणों का उपयोग करने वाला है। ये नोट 14 दिनों तक मुद्रा प्रचलन से बाहर रहेंगे। सेंट्रल बैंक के डिप्टी गवर्नर फैन युफेई ने कहा कि नए नोटों में 600 बिलियन युआन है जो तकरीबन 85.6 बिलियन डॉलर होता है और इन्हें चीन में 17 जनवरी से चलन में लाये गये हैं।

चीन इलेक्ट्रॉनिक भुगतान तकनीक में भी सबसे आगे है, जिसमें कुछ स्कैनर भी शामिल हैं जो ग्राहकों को इनके माध्यम से पेमेंट करने के लिए सुलभ बनाये गये हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here