कर्नाटक सरकार द्वारा किये गए गन्ना झोनबंदी तत्काल वापस लेने की मांग

166

कोल्हापुर : चीनी मंडी

स्वाभिमानी शेतकरी संघठन के अध्यक्ष और पूर्व सांसद राजू शेट्टी ने एक संवाददाता सम्मेलन में, कर्नाटक सरकार द्वारा घोषित गन्ना परिवहन प्रतिबंध / झोनबंदी को तत्काल वापस लेने की मांग की। शेट्टी ने कहा कि,बाढ़ और भारी बारिश से गन्ने की फसल पर भारी बुरा असर पड़ा है, जिससे गन्ने का उत्पादन काफ़ी मात्रा में घट गया है। इस डर के कारण, कर्नाटक सरकार ने किसानों को महाराष्ट्र में गन्ना ले जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। कर्नाटक सरकार की यह नीति किसानों के साथ अन्याय है। किसी भी सरकार को किसानों को उनके अधिकारों से वंचित करने का अधिकार नहीं है।

उन्होंने यह भी कहा कि, 23 नवंबर के गन्ना सम्मेलन से तय किया जाएगा कि, इस सीजन में गन्ना किसानों को प्रति टन कितना दर मिलना चाहिए। पहली बार सूखे और फिर भारी बारिश से किसानों को नुकसान हुआ है। लेकिन सरकार की तरफ से बर्बाद हुई फसल का ठीक तरह से मुआइना नही किया गया है, जिससे किसानों को सरकार की तरफ से अच्छी मदद मिलने के आसार बहुत कम दिखाई दे रहे है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here