कोल्हापुर में आवश्यक वस्तुओं की कीमतें पहुंची आसमान पर; शिकायतों के लिए प्रशासन ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर

465

कोल्हापुर: महाराष्ट्र के कई जिलों में भारी बारिश ने तबाही मचा के रखी है। बाढ़ से प्रभावित कोल्हापुर और सांगली में इसका काफी असर दिख रहा है। कोल्हापुर में आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में भारी वृद्धि हुई है। शहर के लोग ऐसा आरोप लगा रहे है की बाढ़ के बाद यहां जरूरतमंद चीज़ो को अधिक दाम पर बेचे जा रहे है। इसको लेकर जिला कलेक्टर ने मुनाफाखोरी में शामिल लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की धमकी दी है।

बाढ़ से प्रभावित कोल्हापुर सब्जियों, दूध और अन्य आवश्यक वस्तुओं की भारी कमी का सामना कर रहा है, जिससे यहां परेशान है। कलेक्टर कार्यालय के सूत्रों के अनुसार, कुछ विक्रेता आवश्यक वस्तुओं की बढ़ती मांग का लाभ उठा रहे हैं और उन्हें अत्यधिक कीमतों पर बेच रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में लगभग सभी सब्जियों के दाम आसमान छू चुके हैं।

बाजार यार्ड में बैगन की दर 200 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई है। खुदरा विक्रेताओं के पहुंचने तक सब्जी की कीमत 250-300 रुपये तक पहुंचने की उम्मीद है। कलेक्टर दौलत देसाई द्वारा जारी निर्देश के अनुसार, शहर में जो बाढ़ का फायदा उठाकर उत्पादों / वस्तुओं को अधिक कीमतों में बेच रहे है उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। देसाई ने लोगों से शिकायतें दर्ज करने के लिए 1077 और 2655416 पर कॉल करने का भी आग्रह किया है।

आपको बता दे एक सप्ताह से ज्यादा हो चूका है कोल्हापुर बाढ़ में डूबा था और अभी भी कई जगह पर पानी कम नहीं हुआ है। बाढ़ के वजह से पेट्रोल और डीजल की भी कमी है और इसकी तलाश में लोग दर बदर भटक रहे है।

खाली पड़े अपार्टमेंट में लूट को रोकने के लिए पुलिस को भी अलर्ट पर रहने को कहा गया है। इसके अलावा, उन्हें जो सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाहें फैलाने की कोशिश कर रहे हैं उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के लिए भी निर्देशित किया गया है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here