हमारा अंतिम लक्ष्य ऐसे वाहन तैयार करना हैं जो 100 प्रतिशत एथेनॉल पर चल सकें: पीयूष गोयल

278

नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को आत्मनिर्भर भारत के तहत अक्षय ऊर्जा विनिर्माण के दूसरे समापन सत्र में अपने संबोधन में कहा की, भारत 2023-24 तक पेट्रोल के साथ 20 प्रतिशत एथेनॉल सम्मिश्रण के लक्ष्य को प्राप्त करेगा। उन्होंने कहा कि हमारा अंतिम लक्ष्य ऐसे वाहन तैयार करना भी हैं जो 100 प्रतिशत एथेनॉल पर चल सकें।

इसके अलावा, गोयल ने कहा, हम इलेक्ट्रिक कारों के ऑटोमोबाइल उपयोगकर्ताओं को दिन के समय अक्षय ऊर्जा या सौर ऊर्जा का उपयोग करके अपनी बैटरी रिचार्ज करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे, जिसके लिए हम देश में गैस स्टेशनों पर चार्जिंग स्टेशनों के एक बड़े रोलआउट पर विचार कर रहे हैं। मंत्री गोयल ने कहा कि, भारत के स्थिरता मिशन और नवीकरणीय ऊर्जा की प्रगति के लिए बैटरी प्रौद्योगिकियां बहुत महत्वपूर्ण होने जा रही हैं। सरकार अब बैटरी उत्पादन में भारी निवेश कर रही है। उन्होंने कहा, हमें पूरा विश्वास है कि भारत आने वाले वर्षों में अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में नेतृत्व की भूमिका निभाएगा।

आपको बता दे, देश में एथेनॉल उत्पादन बढ़ाने को लेकर कई कंपनियों ने इस उद्योग में भारी निवेश किया है और कई डिस्टलरीज अपनी मौजूदा क्षमता को बढ़ा रही है।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here