गन्ना किसान ओम पाल सिंह के परिवार को मुआवजे का आश्वासन

296

लखनऊ/मुजफ्फरनगर: उत्तर प्रदेश में गन्ना किसान की आत्महत्या के मामले में एक नई बात सामने आयी है। 55 वर्षीय किसान ओम पाल सिंह की आत्महत्या के एक दिन बाद मुजफ्फरनगर जिले के सिसौली शहर में कथित गन्ने के बकाए को लेकर विरोध शुरू हो गया था। इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित खबर के मुताबिक राज्य के गन्ना विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि, 156 क्विंटल गन्ने की आपूर्ति के लिए कुल 47,194 रुपये में से 31,334 का किसान को भुगतान किया गया था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मुजफ्फरनगर के जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) सेल्वा कुमारी जे ने कहा कि, किसान ओम पाल सिंह को मौसम के लिए अपने कोटे के अनुसार खतौली-त्रिवेणी चीनी मिल में 156 क्विंटल गन्ने की आपूर्ति करनी थी, लेकिन उन्होंने 149 क्विंटल की आपूर्ति की।

ओम पाल सिंह की आत्महत्या ने उत्तर प्रदेश की राजनीती में हलचल मच गई है, सत्ताधारी भाजपा को समाजवादी, कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियों ने घेरने की कोशिश की है।

केंद्रीय मंत्री और स्थानीय सांसद संजीव बालयान ने सिसौली का दौरा किया और ओम पाल के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा के बाद शुक्रवार को 22 घंटे लंबे विरोध प्रदर्शन को बंद कर दिया गया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मुजफ्फरनगर प्रशासन और पुलिस ने भी माना की ओम पाल ने अपने भाइयों के साथ भूमि विवाद के कारण यह कदम उठाया और ना ही बकाया भुगतान के कारण जैसे की परिवार ने पहले आरोप लगाया था।।

बालयान ने शुक्रवार शाम को ओम पाल के परिवार को एक सप्ताह के भीतर सीएम राहत कोष से 5 लाख रुपये और अपने अन्य प्रयासों के माध्यम से 5 लाख रुपये देने की घोषणा की।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here