महाराष्ट्र: जानिये सीजन 2021-22 के बारें में सभी जानकारी

84

पुणे : महाराष्ट्र का गन्ना पेराई सत्र जून के दूसरे सप्ताह में 137.28 एलएमटी (पिछले वर्ष में 106.40 एलएमटी) के रिकॉर्ड चीनी उत्पादन के साथ खत्म हुआ। चीनी आयुक्त कार्यालय की नवीनतम रिपोर्टों के अनुसार, गन्ना बकाया का 95.28% भुगतान किया जा चुका है, जो कि 37712.36 करोड़ रुपये है।

समग्र सारांश :

संचालन में कुल चीनी मिलें – 200 (101 सहकारी और 99 निजी)
कुल दैनिक पेराई क्षमता – 801300 एमटी
कुल गन्ना पेराई – 1320.31 एलएमटी
कुल उत्पादित चीनी – 137.28 एलएमटी
औसत रिकवरी – 10.40%
औसत पेराई दिन – 173
अधिकतम पेराई दिन – 240
न्यूनतम पेराई दिन – 36

सर्वाधिक गन्ना पेराई वाली शीर्ष 5 मिलें…

1. विठ्ठलराव शिंदे सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड सोलापुर – 2478922 एलएमटी
2. गुरु कमोडिटी सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड। (जरंडेश्वर शुगर) सतारा – 1998330 एलएमटी
3. इंडिकॉन डेवलपर्स (श्री अंबिका शुगर्स प्राइवेट लिमिटेड) – 1951160 एलएमटी
4. जवाहर शेतकरी साखर कारखाना, कोल्हापुर – 1907298 एलएमटी
5. बारामती एग्रो लिमिटेड पुणे – 1731060 एलएमटी

उच्चतम चीनी उत्पादन करनेवाली शीर्ष 5 मिलें…

1. विट्ठलराव शिंदे सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड सोलापुर – 23. 45 लाख क्विंटल
2. जवाहर शेतकरी साखर कारखाना, कोल्हापुर – 23.13 लाख क्विंटल
3. गुरु कमोडिटी सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड (जरंडेश्वर चीनी) सतारा – 22.56 लाख क्विंटल
4. इंडिकॉन डेवलपर्स (श्री अंबिका शुगर्स प्राइवेट लिमिटेड) – 21.00 लाख क्विंटल
5. मालेगांव सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड – 17.39 लाख क्विंटल

उच्चतम चीनी रिकवरी वाली शीर्ष 5 मिलें…

1. श्री दूधगंगा वेदगंगा सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड- 12.99%
2. पंचगंगा सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड – 12.90%
3. सह्याद्री सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड – 12.66%
4. राजाराम बापू पाटिल सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड (यूनिट 3) वालवा – 12.65%
5. सोनहिरा सहकारी साखर कारखाना, सांगली – 12.54%

सबसे ज्यादा एफआरपी देने वाली चीनी मिलें…
1. श्री दूधगंगा वेदगंगा सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड- प्रति टन 3133.45 रूपये
2. राजाराम बापू पाटिल सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड (यूनिट 3) वालवा – 3044.23 रूपये
3. श्री भोगावती सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड – 3043.73 रूपये
4. पंचगंगा सहकारी साखर कारखाना लिमिटेड (रेणुका शुगर्स) – 3038 रुपये प्रति टन
5. सोनहिरा सहकारी साखर कारखाना, सांगली – 2977.62 रुपये प्रति टन

एथेनॉल उत्पादन…

वर्ष 2021-22 में महाराष्ट्र में कुल एथेनॉल उत्पादन लगभग 134 करोड़ लीटर होने का अनुमान है और राज्य को तेल कंपनियों को इसे बेचकर 7,816.90 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है।

बिजली बेचकर 2,428 करोड़ रुपये कमाए…

राज्य की चीनी मिलों ने अपने को – जनरेशन संयंत्रों से बिजली बेचकर 2,428 करोड़ रुपये कमाए हैं। चीनी आयुक्तालय द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार, मिलों ने 384.30 करोड़ बिजली यूनिट बेचकर 2428.78 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया है।2020-21 के पेराई सत्र के दौरान, चीनी उद्योग ने 675.57 करोड़ यूनिट बिजली का उत्पादन किया, जिसमें से 384.30 यूनिट बिजली ग्रिड को बेची गई, जबकि शेष 212.99 करोड़ यूनिट की खपत खुद मिलों ने की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here