भारत के प्रमुख जलाशयों में पिछले वर्ष के मुकाबले ज्यादा पानी

400

नई दिल्ली : चीनी मंडी

भारत के प्रमुख जलाशयों में पिछले वर्ष के मुकाबले लगभग दोगुना पानी है, और इस समय पानी 10 वर्ष के औसत संग्रहण से अधिक है। द इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित खबर के मुताबिक, केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) द्वारा निगरानी किए गए 123 जलाशयों में सामूहिक जल भंडार 25 जून तक 56.72 बिलियन क्यूबिक मीटर (बीसीएम) है। यह पानी सभी बांधों की कुल क्षमता के 33% है। मौजूदा स्टॉक जून 2019 (29.16 बीसीएम) से लगभग दोगुना है, और इन सभी बांधों (33.21 बीसीएम) के दस साल के औसत भंडारण से भी अच्छा है। सीडब्ल्यूसी डिजाइन और अनुसंधान सदस्य राकेश कुमार गुप्ता ने कहा की, पिछले सीजन में हुई अधिक वर्षा के कारण इस वर्ष जल भंडार एक स्वस्थ स्थिति में हैं।

पिछले साल जून की तुलना में कम से कम 88 जलाशयों में अधिक स्टॉक है। मध्य क्षेत्र में, सामूहिक भंडारण पिछले साल इस समय 9 बीसीएम के मुकाबले 17.21 बीसीएम है। पश्चिमी क्षेत्र में, स्टॉक पिछले साल 3.56 बीसीएम के मुकाबले 12.13 बीसीएम है। दक्षिणी क्षेत्र में, जलाशयों ने 13.05 बीसीएम संग्रहीत किया है,जो जून 2019 के मुकाबले ज्यादा है। उत्तर में, पानी का भंडार 7.23 बीसीएम है, जो 6.87 बीसीएम था। पूर्व में, पिछले वर्ष 3.12 बीसीएम के मुकाबले करेंट स्टॉक 7.11 बीसीएम है। लगभग सभी नदी घाटियों – गंगा, सिंधु, नर्मदा, तापी, माही, साबरमती, कावेरी, कृष्णा, गोदावरी, महानदी के ऊपर-सामान्य भंडार हैं जबकि दक्षिण में नदियों में सामान्य जल भंडार हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here