पाकिस्तान: सरकार को चीनी आयात करने का किया गया आग्रह

231

इस्लामाबाद: एग्रीफॉरम पाकिस्तान के अध्यक्ष इब्राहिम मुगल ने कहा की, वैश्विक बाजार में वर्तमान में चीनी की कीमतों में काफी गिरावट देखि जा रही है, जिसके चलते सरकार को 5 लाख से 10 लाख टन चीनी आयात करने की आवश्यकता है। चीनी आयात नही की गई तो अगले सीज़न में चीनी मिलें फिर से चीनी की कमी पैदा कर सकते है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मुगल ने कहा, चीनी मिलें सीजन के लिए बंपर फसल का गलत अनुमान दे रही थीं, लेकिन वास्तव में इस साल गन्ने का उत्पादन लक्ष्य से कम होगा। गन्ना उत्पादन घटने के कारण स्थानीय चीनी उत्पादन 3.5 मिलियन टन से चार मिलियन टन के बीच रहेगा, जो देश की पांच मिलियन टन की मांग से कम है। उन्होंने कहा कि, इस स्थिति के कारण, ट्रेडिंग कॉरपोरेशन ऑफ पाकिस्तान (टीसीपी) को वर्तमान वैश्विक कमोडिटी की कीमतों का पूरा फायदा उठाना चाहिए, और समय पर एक मिलियन टन चीनी का आयात करना चाहिए।

मुगल ने कहा कि, मिलों को गन्ने की आपूर्ति अगर 240 रुपये प्रति 40 किलोग्राम के हिसाब से की जा रही है, तब भी सभी करों सहित चीनी की कीमत 65 रूपयें प्रति किलोग्राम से अधिक नहीं होनी चाहिए, लेकिन मिलर्स 75 रूपयें प्रति किलोग्राम से अधिक प्राप्त कर रहे हैं। उन्होंने दावा किया की, प्रति किलोग्राम 65 रुपयों से अधिक कुछ भी मुनाफाखोरी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here