गन्ना किसानों की जैविक खेती में दिलचस्पी बढ़ी

2815

कोल्हापुर: किसानों में जैविक खेती की रूचि दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। पश्चिमी महाराष्ट्र, जो गन्ना बेल्ट के रूप में जाना जाता है, वहां जैविक खेती दिनोंदिन लोकप्रिय हो रही है। राज्य में किसानों के बारह सौ से अधिक जैविक कृषि समूह सक्रिय हैं। एक समूह में लगभग 50 किसान शामिल है। देश में हरित क्रांति के बाद प्रचुर मात्रा में अनाज उपलब्ध हुआ। भारत कृषि वस्तुओं का निर्यातक बन गया। कृषि उत्पादों के उत्पादन को बढ़ाते बढ़ाते रासायनिक उर्वरकों और कीटनाशकों का इस्तेमाल भी धीरे-धीरे बढ़ गया। कृषि में रासायनिक उर्वरकों और कीटनाशकों के उपयोग को कम करके मिट्टी और कृषि उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार के लिए जैविक खेती के विकास पर जोर दिया गया है। जैविक गन्ना खेती उत्पादों की मांग बढ़ रही है।

सरकार की योजना के अलावा, कुछ किसानों, समूहों, संस्थानों और चीनी मिलों ने भी जैविक खेती करना शुरू कर दिया है। शिरोल के दत्त सहकारी चीनी मिल ने जैविक गन्ने की खेती का समर्थन किया है। चीनी मिल द्वारा यह कदम सराहनीय है।

परंपरागत कृषि विकास योजना को लागू करने के लिए, सरकार की विभिन्न योजनाओं का पुनर्गठन किया गया है। इस अभियान के तहत, जैविक खेती का मुख्य उद्देश्य जैविक खेती के लिए जैविक समूह बनाना और उपभोक्ताओं को जैविक कृषि उत्पाद उपलब्ध कराना, किसानों के उत्पादन की लागत को कम करना, किसानों की आर्थिक आय में वृद्धि करना और मिट्टी की गुणवत्ता में सुधार करना है। केंद्र और राज्य सरकारों ने जैविक खेती अभियान शुरू किया है। इसके लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। इस योजना को महाराष्ट्र में किसानों द्वारा अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है।

सरकार भूमि स्वास्थ्य पत्रिका, समूह जैविक खेती को बढ़ावा दे रही है। जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए जैविक उत्पादों को अतिरिक्त मूल्य देने के लिए सरकारी स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं।

आजकल खाने को लेकर लोगों में जागरूकता बढ़ रही है। जैविक कृषि उत्पाद खरीदने का चलन बढ़ रहा है। जैविक खेती के उपभोक्ता महानगरीय के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी उत्पादन करते हैं। ऐसे उत्पाद करनेवाला किसान आर्थिक रूप से मजबूत हो रहा है। सरकार इस योजना को पूरी मदद कर रही है। कोल्हापुर के जिला कृषि अधिकारी ज्ञानदेव वकुरे ने कहा कि, किसानों और उपभोक्ताओं दोनों से योजना की प्रतिक्रिया संतोषजनक है।

गन्ना किसानों की जैविक खेती में दिलचस्पी बढ़ी यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here