उत्तर प्रदेश में महाराष्ट्र के मुकाबले लगभग दोगुना चीनी उत्पादन

2105

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के गन्ना एवं चीनी विकास मंत्री सुरेश राणा ने कहा है कि उनका राज्य चीनी के उत्पादन में महाराष्ट्र से आगे निकल गया है। उत्तर प्रदेश में 12 मई तक 121 लाख टन चीनी का उत्पादन हो चुका है जो देश के कुल चीनी उत्पादन का तकरीबन 45 प्रतिशत है। महाराष्ट्र में अभी लगभग 60 लाख टन से ऊपर ही चीनी उत्पादन हुआ है।

उत्तर प्रदेश की तरह महाराष्ट्र भी चीनी उत्पादन में अपनी पकड़ बनाये रखता था लेकिन इस सीजन में इस राज्य के चीनी उत्पादन में जबरदस्त गिरावट आयी है। महाराष्ट्र में चीनी के कम उत्पादन का मुख्य कारण बाढ़ और सूखा रहा हैं।

उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन के बावजूद गन्ने की पेराई जारी है। उत्तर प्रदेश की सरकार ने कोरोना संकट के समय में भी पेराई को रोका नहीं है। राणा ने कहा कि मौजूदा कोरोना संकट के समय इस तरह की उपलब्धि हासिल करना हमारे लिए भारी चुनौती थी। उत्तर प्रदेश में चीनी उत्पादन के बढ़ने का एक और मुख्य कारण किसानों द्वारा यहां उपयोग किये गये गन्ने की वेरायटी थी।

एक तरह जहा उत्तर प्रदेश में चीनी उत्पादन महाराष्ट्र के मुकाबले दोगुना है वही राज्य के सामने इसे बेचने की चुनौती भी होगी, क्यूंकि फिलहाल लॉकडाउन के करण चीनी बिक्री ठप है और निर्यात भी थम गया है। चीनी उत्पादन बढ़ने से गोदामो में चीनी का स्टॉक भी बढ़ रहा है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here